Featured Posts (ट्रेंड खबरें)

  • शाहजहाँपुर : अज़ीज़गंज तथा पिपरौला पुलिस चौकी के संरक्षण में सड़क किनारे खोखों पर खुले आम मिल रहा गांजा

    शाहजहाँपुर : अज़ीज़गंज तथा पिपरौला पुलिस चौकी के संरक्षण में सड़क किनारे खोखों पर खुले आम मिल रहा गांजा

    अनुराग मिश्रा ============ शाहजहाँपुर।भांग की दुकानों पर गांजा की खुलेआम बिक्री हो रही है।गांजा की बिक्री के कारण भांग की बिक्री कम हो रही है जिसके कारण सरकार को राजस्व का नुकसान हो रहा है। इसके बाद भी आबकारी विभाग भांग की दुकानों में मिलने वाले गांजा की बिक्री पर […]

    0 comments
  • धरती पर मानव की उत्पत्ति 200,000 वर्ष पूर्व हुई, राम त्रेतायुग में 21 लाख साल पहले : देखें वैज्ञानिक, ऐतिहासिक तथ्य!

    धरती पर मानव की उत्पत्ति 200,000 वर्ष पूर्व हुई, राम त्रेतायुग में 21 लाख साल पहले : देखें वैज्ञानिक, ऐतिहासिक तथ्य!

    विजानाति-विजानाति-विज्ञान …डा एस.बी. गुप्ता का ब्लोग…. आधुनिक-विज्ञान व पुरा वैदिक-विज्ञान, धर्म, दर्शन, ईश्वर, ज्ञान के बारे में फ़ैली भ्रान्तियां, उद्भ्रान्त धारणायें व विचार एवम अनर्थमूलक प्रचार को उचित व सम्यग आलेखों, विचारों व उदाहरणों, कथा, काव्य से जन-जन के सम्मुख लाना—ध्येय है, इस चिठ्ठे का … यह आदि-सृष्टि कैसे हुई, […]

    0 comments
  • #एशिया के देश PART 11 : ’ओमान का इतिहास’

    #एशिया के देश PART 11 : ’ओमान का इतिहास’

    ओमान =============== سلطنة عُمان‎ ओमान की सल्तनत ध्वज राष्ट्र प्रतीक राष्ट्रवाक्य: कोई नहीं राष्ट्रगान: Nashid as-Salaam as-Sultani राजधानी और सबसे बडा़ नगर- मस्कट 23°36′N 58°33′E राजभाषा(एँ)– अरबी निवासी -ओमानी सदस्यता- {{{membership}}} सरकार -पूर्ण राजशाही – सुल्तान का़बूस बिन अल सैद – चांसलर फहद इब्न महमूद अल सैद स्वतन्त्रता – पुर्तगाली […]

    0 comments
  • #इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 41

    #इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 41

    हमने इस्लामी अदालत में आरोपी व्यक्ति के कुछ अधिकारों की चर्चा की थी। यातना देने और प्रतिड़ित करने पर रोक वह चीज़ है जिसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार किया गया है और मानवाधिकार के समझौतों और आधुनिक व्यवस्था में भी इसे स्वीकार किया गया है और मानवाधिकार विरोधी कार्यवाही यानी […]

    0 comments
  • अमेरिका की आशा निराशा में क्यों बदल गयी है?

    अमेरिका की आशा निराशा में क्यों बदल गयी है?

    ईरान ने अपने तेल की बिक्री और उसके निर्यात के लिए रूस के साथ एक समझौता किया है। इस समझौते के अनुसार ईरान एक वर्ष में 50 लाख टन तेल रूस को निर्यात करेगा। ईरान ने अपने तेल की पहली खेप रूस को नवंबर 2017 में रवाना की थी। उस […]

    0 comments

Other Top News

57 इस्लामी देशों की एकजुटता के मार्ग में क्या रुकावटें हैं?

57 इस्लामी देशों की एकजुटता के मार्ग में क्या रुकावटें हैं?

13th November 2018 at 6:59 am 0 comments

जैसा कि सभी जानते हैं, इस्लामी शिक्षाओं में मुसलमानों की एकता व एकजुटता पर बहुत अधिक बल दिया गया है लेकिन इस्लामी जगत की आज की स्थिति पर एक नज़र डालने से ही इस्लामी देशों के बीच अभूतपूर्व फूट, मतभेद और विवाद का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है। […]

Read more ›
विकास पथ पार्ट 1 : वैज्ञानिक क्षेत्रों में प्रगति और इस्लामी क्रांति की सफलता !

विकास पथ पार्ट 1 : वैज्ञानिक क्षेत्रों में प्रगति और इस्लामी क्रांति की सफलता !

13th November 2018 at 6:50 am 0 comments

ईरान प्राचीन काल से ही ज्ञान व सभ्यता का पालना रहा है और आज संसार की सभ्यता बड़ी हद तक विभिन्न कालों में ईरान की उपलब्धियों की ऋणी है। यद्यपि ये उपलब्धियां ईरान के पूरे इतिहास में बड़े उतार चढ़ाव के बाद अर्जित की गई हैं लेकिन इस्लामी क्रांति की […]

Read more ›
वो मुकद्दर का सिक़न्दर जानेमन कहलायेगा

वो मुकद्दर का सिक़न्दर जानेमन कहलायेगा

13th November 2018 at 6:33 am 0 comments

वेदिका सिंह ____________ मैंने पहले कहा था कि सिंकदर की कहानी सुनाऊँगी आपको।कल जब चप्पल टूटी तो मैं चाय की दुकान पर बैठ गयी और दो चाय एक मैगी खाई और २-३ कहानी लिखी।जब ठूस लिया तो आगे बढ़ी मोची ढूंढने(कभी कभी ये छोटे लोग कितने क़ीमती लगते हैं ना!रहीमदास […]

Read more ›
वो अभी भी गुस्से से चुप हैं

वो अभी भी गुस्से से चुप हैं

13th November 2018 at 6:15 am 0 comments

Arham Zuberi =========== 2002 की हिंसा के बाद से गुजराती मुसलमानों का आत्मविश्वास बढ़ा है, उन्होंने शिक्षा के महत्व को समझा है, अब उनकी साक्षरता दर करीब 80 फ़ीसदी तक पहुंच गई है । बेशक ये मान लेना ग़लत होगा वो उन दंगों से उबर चुके हैं और पीड़ितों के […]

Read more ›
छोटे जीव-जंतु हमारे मुक़ाबले काफ़ी धीमी गति से दुनिया को देखते है

छोटे जीव-जंतु हमारे मुक़ाबले काफ़ी धीमी गति से दुनिया को देखते है

13th November 2018 at 4:59 am 0 comments

छोटे जीव-जंतु हमारे मुकाबले काफी धीमी गति से दुनिया को देखते है। ताजा शोध् से यह पता चला है कि मक्खियों या अन्य छोटे जीव हमारी तुलना में बिल्कुल अलग गति से समय का अनुभव करते है। वास्तव में इन छोटे जीवों द्वारा धीमी गति से चीजो का अनुभव करने […]

Read more ›
उत्तर प्रदेश : रामगंगा किनारे मिले सैकड़ों आधार कार्ड

उत्तर प्रदेश : रामगंगा किनारे मिले सैकड़ों आधार कार्ड

13th November 2018 at 3:23 am 0 comments

Sagar PaRvez ============== #लापरवाही_साजिश! रामगंगा किनारे मिले सैकड़ों आधार कार्ड, लावारिस पड़े देख फैली सनसनी उत्तर प्रदेश : बरेली से होकर गुजर रही रामगंगा नदी के किनारे सैकड़ों की संख्या में आधार कार्ड लावारिस हालात में पड़े मिले हैं। स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस ने उन्हें कब्जे में लिया […]

Read more ›
फ़ार्स खाड़ी के ईरानी द्वीप – पार्ट 5

फ़ार्स खाड़ी के ईरानी द्वीप – पार्ट 5

13th November 2018 at 3:20 am 0 comments

क़िश्म द्वीप, फ़ार्स की खाड़ी में स्थित सबसे बड़ा द्वीप है। यह द्वीप फ़ार्स की खाड़ी में पूर्व से पश्चिम की ओर फैला है। क़िश्म द्वीप का उत्तरी भाग पतला है जिसकी गहराई कम है जबकि इसका दक्षिणी भाग अपेक्षाकृत चौड़ा और गहरा है। इसका तटवर्ती क्षेत्र बहुत ही सुन्दर […]

Read more ›
सृष्टि के रहस्य : पार्ट 3

सृष्टि के रहस्य : पार्ट 3

13th November 2018 at 3:11 am 0 comments

ज़्यादातर लोग अपने जीवन में कुछ सवालों का जवाब चाहते हैं। इसमें साधारण लोगों से लेकर विचारक भी शामिल हैं। लोगों को अपने जीवन के विभिन्न चरणों में कुछ ऐसे सवालों का सामना होता है कि अगर उन्होंने उसकी अनेक बार अनदेखी की हो लेकिन अंत में उसके बारे में […]

Read more ›
#ईश्वरीय वाणी पार्ट 44 : सूरे लुक़मान : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

#ईश्वरीय वाणी पार्ट 44 : सूरे लुक़मान : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

13th November 2018 at 3:08 am 0 comments

सूरे लुक़मान पवित्र क़ुरआन का इकतीसवां सूरा है। इसमें 34 आयतें हैं और यह मक्के में उतरा है। इस सूरे का नाम लुक़मान इसलिए पड़ा है कि इसमें तत्वदर्शी हज़रत लुक़मान की नसीहतों का उल्लेख है। इस सूरे के शुरु में ईश्वर ने क़ुरआन को तत्वदर्शिता का मार्ग दिखाने वाला […]

Read more ›
आयतें और निशानियां : क्योंकि तुम सिर्फ़ नसीहत करने वाले हो : पार्ट 11

आयतें और निशानियां : क्योंकि तुम सिर्फ़ नसीहत करने वाले हो : पार्ट 11

13th November 2018 at 3:02 am 0 comments

मधुमक्खी ईश्वर की उत्कृष्ट रचनाओं में से एक है, यह एक ऐसा अद्भुत जीव है जो अपने छोटे जीवनकाल में कभी आराम नहीं करता है। इस दुनिया में पाया जाने वाला प्रत्येक जीव अपनी क्षमता के अनुसार काम करता है और जितना ईश्वर ने उसपर ज़िम्मेदारी डाली है उसे पूरा […]

Read more ›