अमरीका में 300 से अधिक पादिरियों ने किया 1000 बच्चों का यौन शोषण, वेटिकन ने बताया शर्मनाक

Posted by

तीन सौ से अधिक पादरियों द्वारा वर्षों तक हज़ारों बच्चों के साथ किये गए यौन शोषण पर वेटिकन ने खेद व्यक्त किया है।

वेटिकन ने पादरियों के हाथों बच्चों के यौन शोषण को आपराधिक बताते हुए इसे नैतिक रूप में कलंकनीय बताया। वेटिकन के प्रवक्ता का कहना है कि पोप फ़्रांसिस, इस प्रकार की घटनाओं को जड़ से समाप्त करना चाहते हैं।

पोप फ़्रांसिस के प्रवक्ता ग्रेग बुर्के ने कहा कि पादरियों की ओर से यौन शोषण पर आधारित पेनसिल्वेनिया की ग्रैंड ज्यूरी की जांच रिपोर्ट को हम बहुत ही गंभीरता से लेते हैं।

ज्ञात रहे कि अमरीका के पेंसिल्वेनिया राज्य के न्यायाधीशों ने अपनी जांच में यह पाया कि इस राज्य में रोमन कैथोलिक पादरियों ने नर्क से डराकर हज़ारों बच्चों का यौन उत्पीड़न किया। पेन्सिलवेनिया के मुख्य न्यायाधीश जाश शेपीरो ने कहा कि राज्य के चर्च के अधिकारियों ने इस बारे में बहुत सी बातें छिपाई हैं।

उल्लेखनीय है कि अमरीका के पेंसिल्वेनिया राज्य के न्यायाधीशों की ओर से मंगलवार को 884 पृष्ठों की जांच रिपोर्ट में बताया गया है कि सैकड़ो पादरियों ने बच्चों के धार्मिक विश्वास और चर्च पर उनकी आस्था का दुरूपयोग करते हुए उनके साथ यौन संबन्ध बनाए। अमरीका के पेन्सेल्वानिया राज्य में ग्रांड ज्यूरी की रिपोर्ट में 300 से अधिक पादरियों को 1000 से अधिक बच्चों के यौन शोषण का आरोप लगाया गया है। यह रिपोर्ट पेन्सेल्वानिया की सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को जारी की है जिसमें 1947 से अब तक चर्च के पादरियों के हाथों के बच्चों के यौन शोषण के मामलों की जांच की गई है। ग्रांड ज्यूरी की रिपोर्ट में कहा गया है कि हम मानते हैं कि पीड़ित बच्चों की संख्या हज़ारों में हो सकती है क्योंकि कुछ बच्चों का रिकार्ड गुम हो चुका है और कुछ बच्चों ने इस बारे में बात करने से इंकार किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह पादरी बच्चों और बच्चियों का रेप करते थे।

सुप्रीम कोर्ट ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 23 जांचकर्ताओं ने 2 साल तक जांच करके 1400 पृष्ठों की रिपोर्ट तैयार की है।
————