अयोध्या में संघ परिवार का ‘नमाज़ कार्यक्रम’ : संतों ने सरयू नदी के पानी से वजू करने का किया विरोध, दी आत्महत्या की धमकी

Posted by

संघ परिवार के सहियोगी संगठन राष्टीय मुस्लिम मंच के इंद्रेश कुमार समय समय पर ऐसा कुछ कर के दिखाने का प्रयास करते रहते हैं जैसे कि उन्हें मुस्लिम समाज की बहुत चिंता है, असल में यह सब संघ परिवार के षडयंत्रों का हिस्सा है, इंद्रेश कुमार का नाम भारत में हुए अनेक बम्ब ब्लास्ट में सामने आया था उसी समय से संघ ने अपनी गतविधियों को बदला है ताकि उस की तरफ से धयान बटा रहे|

राष्टीय मुस्लिम मंच की ओर से राम मंदिर विवाद के हल और अमन के लिए आयोजित कार्यक्रम में विघ्न पैदा हो गया। इसके कारण सरयू नदी में वजू के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया। रामकथा संग्रहालय से सीधे नूह असलाहिस्लाम की मजार पर जाकर फातिया व कुरानख्वानी का निर्णय लिया गया।

डीएम डा. अनिल कुमार पाठक ने कार्यक्रम पर रोक लगाए जाने से इनकार किया। वहीं मुस्लिम मंच के राष्ट्रीय संयोजक मुरारी दास ने भी कहा कि बारिश के कारण कार्यक्रम में पहले ही काफी विलम्ब हो गया है। उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं की ओर से उठाए गए सवाल का समाधान करते हुए कहा कि सरयू से वजू करने का कुछ साधु विरोध कर रहे है और उन लोगों ने आत्महत्या की धमकी दी है।

मुस्लिम मंच के कार्यक्रम का अन्तरराष्टीय हिन्दू परिषद के अध्यक्ष डा. प्रवीन भाई तोगडिया ने विरोध किया था। उन्होंने संतों से व्यक्तिगत फोन कर आग्रह किया कि संत समाज भी मुखर हो। तोगडिया के ही आह्वान पर संतों ने मुख्यमंत्री तक संदेश भेजा था। इसी के बाद शासन स्तर पर निर्णय लिया गया कि कार्यक्रम में शिरकत करने वाले मुस्लिम सरयू जल से वजू न करें।

शासन के निर्णय के बाद जिला प्रशासन के अफसरों ने मुस्लिम मंच के पदाथिकारियों से अलग से वार्ता की और उन्हें समझाया।