असदुद्दीन ओवैसी ने की कुमारस्वामी से बात, दी मुबाक़रबाद!

Posted by

कर्नाटक चुनाव में जीत के लिए एआईएमआईएम प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने एचडी कुमारस्वामी को मुबाकरबाद दी है। उन्होंने कहा है कि कर्नाटक चुनाव के बाद विधानसभा में मुस्लिम नेतृत्व घट गया है और ये सभी पार्टियों के लिए चिंता का विषय है, जो विविधता की बात करती हैं। उन्होंने कहा कि मैंने एचडी कुमारस्वामी के बात की है, और उन्हें चुनाव में मिली जीत के लिए मुबारकबाद भी दी है। मुझे यकीन है कि वह अपने संवैधानिक जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से निर्वहन करेंगे। उनके नेतृत्व में कर्नाटक प्रगति करेगा। गौरतलब है कि कांग्रेस ने सत्ता में वापसी के लिए एचडी कुमारस्वामी की पार्टी जेडी(एस) को समर्थन देने की बात कही है। इस स्थिति में कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी होंगे। हालांकि अभी कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका नहीं मिला है।

कर्नाटक चुनाव 2018 में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई है। बीजेपी ने इस चुनाव में कुल 104 सीटों पर जीत दर्ज की है। हालांकि सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी बीजेपी पूर्ण बहुमत का आंकड़ा नहीं छू सकी है। पूर्ण बहुमत के लिए बीजेपी को 112 सीटों की जरूरत थी।

ANI

@ANI

I spoke to HD Kumaraswamy & congratulated him for his party’s victory. I am sure as he will discharge his constitutional responsibility in a better way as compared to his predecessors & Karnataka will progress under his leadership: Asaduddin Owaisi, AIMIM Chief

ANI

@ANI
Karnataka assembly results have brought down Muslim representation in the Assembly and this should be a cause of concern for every political party which believes in diversity & pluralism: Asaduddin Owaisi, AIMIM Chief #KarnatakaElections2018

बता दें कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा पेश किया है। कर्नाटक चुनाव में 224 में से 222 सीटों पर चुनाव हुआ है। इस में बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडी(एस) को 38 और अन्य को 2 सीटे मिली है। कांग्रेस का दावा है दो अन्य निर्दलीय विधायकों ने भी उसे समर्थन दे दिया है। ऐसे में सरकार बनाने का पहला मौका उसे मिलना चाहिए। वहीं परंपरा के नाते सबसे ज्यादा सीट जीतने वाली पार्टी को सरकार का पहला मौका दिया जाता है। बता दें कि इस चुनाव में वोटरों ने जमकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। इस बार चुनाव में 72.13 फीसदी वोटिंग हुई है। वहीं वोट शेयर की बात करें तो कांग्रेस को सबसे ज्यादा वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी दूसरे नंबर पर है।