आंग सान सू ची ने किया पत्रकारों की गिरफ़्तारी का समर्थन

Posted by

म्यांमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू ची ने रोहिंग्या मुस्लिम अल्पसंख्यकों के ख़िलाफ सेना द्वारा किये गए अत्याचारों की पड़ताल कर रहे दो पत्रकारों को जेल भेजे जाने का समर्थन किया है.

सू ची ने अपने बयान में कहा कि दोनों पत्रकारों को इसलिए जेल नहीं भेजा गया कि वे पत्रकार हैं, बल्कि उन्हें देश के सरकारी गोपनीयता कानून का उल्लंघन करने की वजह से सज़ा सुनाई गई है.

पिछले हफ़्ते दोनों पत्रकारों को सात साल की सज़ा सुनाई गई.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस फ़ैसले की कड़ी निंदा हो रही है.