उत्तर प्रदेश :रेल दुर्घटना में 7 लोगों की मौत, 40 से अधिक घायल : रिपोर्ट

Posted by

उत्तर प्रदेश के रायबरेली के पास हरचंदपुर रेलवे स्टेशन के आउटर पर बुधवार सुबह 6 बजे न्यू फ़रक्का एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

रिपोर्ट में बताया गया है कि न्यू फ़रक्का एक्सप्रेस के इंजन सहित 9 डिब्बे पटरी से उतर गए। दुर्घटना में तीन बच्चों सहित सात लोगों की मौत हो गई। दुर्घटना में 40 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। सभी का इलाज ज़िला अस्पताल में चल रहा है।

यात्रियों ने बताया कि ऐसा लगा की ट्रेन में जोरदार धमाका हुआ और ट्रेन की बोगियां पलटने लगी। बोगी पलटते ही यात्रियों की नींद खुल गई और चीख-पुकार मच गई। आसपास के गांवों के सैकड़ों लोगों ने बोगियों में फंसे लोगों को निकालने में मदद की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तुरंत राहत पहुंचाने के आदेश दिये हैं।

ANI

Verified account

@ANI
5 trains cancelled/shortly terminated & 9 trains diverted after New Farakka Express Train derailment near Harchandpur railway station in Uttar Pradesh, earlier today.

ANI

Verified account

@ANI
New Farakka Express train derailment in #Raebareli: Emergency help line numbers set up at Malda Station; Railway Phone Numbers – 03512-266000, 9002074480, 9002024986


ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
#Raebareli : Drones & long-range cameras are being used to monitor the situation at the site of New Farakka Express Train derailment. 7 people died and 21 injured in the accident,

ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
#SpotVisuals: Rescue and relief operations are underway at the spot where 9 coaches of New Farakka Express train derailed in #Raebareli. 7 people died in the accident, 21 injured.


वहीं सूत्रों के मुताबिक रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी स्वयं घटनास्थल पर पहुंचे। वहीं रेल मंत्री पियुष गोयल ने मृतक आश्रितों को 5 लाख रुपये और गंभीर घायलों को एक लाख मुआवज़ा देने तथा मामूली घायलों को 50,000 रुपये मुआवज़े की घोषणा की है। बताया जा रहा है कि हरचंदपुर स्टेशन के असिस्टेंट स्टेशन मास्टर ने ट्रेन को पास होने के लिए ग्रीन सिग्नल तो दे दिया, लेकिन पटरियां नहीं जोड़ी। जिससे ट्रेन हादसे का शिकार हो गई। रेलवे अधिकारी ने हरचंदपुर के असिस्टेंट स्टेशन मास्टर आशीष कुमार को प्रथम दृष्टया में दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया है।