#उस_आलिम_के_इस_जवाब_में_आज_हमारे_विचार_विमर्श के लिये बहुत कुछ छिपा है

Posted by

Fiza Hakim
==============
#हम_भटके_हुए_है_अपनी_राह_से_
☆☆☆☆☆
बगदाद में तातारियों की जीत के बाद, हलाकू खान की बेटी बगदाद में गश्त कर रही थी कि एक भीड़ पर उसकी नज़र पड़ी.
पूछा लोग वहां क्यों इकट्ठे हैं?
जवाब आया: एक आलिम के पास खड़े हैं। हलाकू की बेटी ने आलिम को अपने सामने पेश होने का आदेश दिया। आलिम को तातारी राजकुमारी के सामने ला खड़ा किया गया।
राजकुमारी आलिम से सवाल करने लगी: क्या तुम लोग अल्लाह पर ईमान नहीं रखते?
आलिम: बेशक हम ईमान रखते हैं अल्लाह पाक पर ,
राजकुमारी: क्या तुम्हें विश्वास नहीं कि अल्लाह जिसे चाहे वह ताकतवर रहे?
आलिम: बेशक हमारा उस पर यक़ीन है।
राजकुमारी: तो क्या अल्लाह ने सच में हमें तुम पर हावी नहीं कर दिया है?
आलिम: निश्चित रूप से कर दिया है –
राजकुमारी: तो क्या यह इस बात की दलील नहीं कि अल्लाह हमें आप से अधिक चाहता है?
आलिम: नहीं
राजकुमारी: कैसे?
आलिम: आप ने कभी चरवाहे को देखा है?
राजकुमारी: हाँ देखा है


आलिम: क्या वह झुंड के पीछे चरवाहे ने अपने कुछ कुत्ते भी रख रहे नहीं होते हैं?
राजकुमारी: हां रखे होते हैं।
आलिम: अच्छा तो अगर कुछ भेड़ें चरवाहे को छोड़ किसी तरफ निकल खड़ी हों, और चरवाहे की आवाज़ को सुनकर आने को तैयार ही न हों, तो चरवाहा क्या करता है?
राजकुमारी: वे उनके पीछे अपने कुत्ते दौड़ाता है ताकि वह उन्हें वापस उसकी कमान में ले आएं।
आलिम: वह कुत्ते कब तक उन भेड़ों के पीछे पड़े रहते हैं?
राजकुमारी: जब तक वह फरार रहें और चरवाहे के सत्ता में वापस न आ जाएं।
आलिम: तो तातारी लोग ज़मीन में हम मुसलमानों के पक्ष में अल्लाह पाक के छोड़े हुए कुत्ते हैं, जब तक हम अल्लाह के दर से भागे रहेंगे और उसकी बताई बातों पर और सही राह पर नहीं आएंगे, तब तक अल्लाह तुम्हें हमारे पीछे दौड़ाये रखेगा, तब तक हमारा अमन-चैन तुम लोग हराम किये रखोगे, हाँ जब हम अल्लाह के दर पर वापस आ जाएंगे उस दिन तुम्हारा काम खत्म हो जाएगा।
#उस_आलिम_के_इस_जवाब_में_आज_हमारे_विचार_विमर्श के लिये बहुत कुछ छिपा है।