कागज़ के जहाज़ से फिलिस्तीनियों ने इस्राईल की नींद उड़ायी : देखें वीडियो

Posted by

फिलिस्तीनियों ने मंगलवार को गज़्ज़ा पट्टी में ” नकसा दिवस” मनाया है । यह वह दिन है जिस दिन इस्राईलियों ने फिलिस्तीनियों को उनके देश और उनकी भूमि से निकाल दिया था।

इस बार के नकसा दिवस को फिलिस्तीनियों ने इस प्रकार से मनाया कि मजबूर होकर इस्राईलियों को भी इस दिवस के कार्यक्रमों में शामिल होना पड़ा।

फिलिस्तीनियों ने इस साल नकसा दिवस , कागज़ से बने जहाज़ और पतंग उड़ा कर इस्राईलियों के खेतों में आग लगा दी जिस से पूरे इस्राईल में हड़कंप मच गया क्योंकि इन ” आग लगाने वाले कागज़ के जहाज़ों ” ने इस्रा ईल में किसानों को भारी नुकसान पहुंचाया।

इस्राईली युद्ध मंत्री एविग्डोर लेबरमैन ने पहले बताया था कि गज़्ज़ा से 600 कागज़ के विमान उड़ाए गये थे जिनमें से 400 को आधुनिक तकनीक द्वारा हवा में ही तबाह कर दिया गया। उन्होंने बताया कि इन जहाज़ों की वजह से 198 जगहों पर आग लग गयी और हज़ारों एकड़ खेत जल गये।

हालिया दिनों में इलाक़े में तेज़ गर्मी और गर्म हवाएं भी फिलिस्तीनियों का साथ दे रही हैं और आग लगाने वाली पतंगों से बड़े पैमाने पर इस्राईल में आग लग रही है।

इस्राईली समाचार पत्र यदीऊत अहारोनूत ने लिखा है कि तेज़ गर्मी और लू की वजह से आग तेज़ी से फैलती है और अब यह खतरा है कि इससे यहूदी बस्तियों में भी भारी पैमाने पर आग लग सकती है।

आग लगाने वाली यह पतंग या फिलिस्तीनियों की भाषा में ” कागज़ के जहाज़” को ट्यूनेशिया के इंजीनियर मुहम्मद ज़वारी ने डिज़ाइन किया था और अब ” ज़वारी के सपूत” नाम से फिलिस्तीनी युवाओं का एक गुट इसे बना कर इस्राईलियों की नींद उड़ाए है।

मंगलवार को बड़े पैमाने पर आग लगने की घटनाओं के बाद इस्राईल के अधिकारियों में गुस्सा है और वह हमास और कागज के जहाज़ उड़ाने वालों कई धमकियां दे रहे हैं।

इस्राईल के आतंरिक सुरक्षा मंत्री जलआद अरदान ने कहा है कि कागज़ के पतंगों से किये जाने वाले इन हमलों को, हत्या की कोशिश समझना चाहिए इस लिए इस उड़ाने वालों को गोली मार देनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि इन कागज़ी पतंगों को रोकने के लिए तकनीक विकसित किये जाने की ज़रूरत है और जहाज़ उड़ाने वाले को, इस्राईल पर मिसाइल मारने वाले की तरह देखना चाहिए।

फिलिस्तीनियों के इस विचित्र हथियार से इस्राईली अधिकारी ही नहीं अमरीकी नेता भी चिंतित हैं और अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प के सलाहकार जेसन ग्रीन ब्लेट ने अरबी में ट्विट करके कहा कि हमास के कागज़ के युद्धक जहाज़ खिलौना नहीं हैं और न ही आज़ादी की मांग हैं बल्कि यह युद्ध का हथियार और अंधाधुंध तबाही फैलाने की कोशिश है।

फिलिस्तीनियों के इन कागज़ी विमानों को रोकने के लिए इस्राईली सेना, कैमरों से लैस ड्रोन विमानों का प्रयोग कर रही है लेकिन बहुत सस्ते में बनने वाले इन कागज़ के जहाज़ों को सेना के अत्याधुनिक ड्रोन विमान रोकने में विफल रहे।

जनरल रोनिन ईतसीक ने इस्राईल टूडे से बात करते हुए कहा कि आग लगाने वाले इन कागज़ी जहाज़ों को रोकने का एकमात्र मार्ग , ज़मीन पर इस्राईली सैनिकों की उपस्थिति है अन्यथा हमारे किसानों को बहुत नुक़सान होगा।

इस्राईली समाचार पत्र हारित्ज़ के रिपोर्टर रोजिल अलबार ने अपनी एक रिपोर्ट में लिखा हैः हमास , उस सरकार को जो दुनिया के अत्याधुनिक युद्धक विमानों पर गर्व करती है यह समझाया कि वह कागज़ से बने साधारण से जहाज़ों को रोकने की ताक़त नहीं रखती जो नक़ब की जमीनों को जला रहे हैं।

इस्राईल के प्रसिद्ध थियेटर कलाकार, ” यहशूअ सोबोल” ने कहा कि उन्होंने गज़्जा में आज कल रहने वाले फिलिस्तीनी बच्चे की जगह पर खुद को रख कर सोचा कि जिसके पास भूख से मरने या मरने और गिरफ्तार होने के अलावा कोई रास्ता न हो तो वह क्या करते? उन्होंने कहा कि मैं भी आग लगाने वाले कागज़ के जहाज़ बना कर उड़ाता।