कानपुर : ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के समर्थन में आया उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल

Posted by

कानपुर।सरकारों की मनमानी से तंग जनता कब तक बर्दास्त करे, मजबूर हो कर लोगों को अपनी बात कहने और मनवाने के लिए सड़कों पर उतरना पड़ता है|

सभी एकजुट होकर हड़ताल के समर्थन में आगे आएं, जिससे मांगों की आवाज दिल्ली तक पहुंचे। हड़ताल के दौरान फर्ज अदायगी न करें। यह बातें उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष श्याम बिहारी मिश्रा ने यूपी मोटर्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (यूपीएमटीए) की बैठक में कहीं।

20 जुलाई से प्रस्तावित ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के मद्देनजर आयोजित बैठक में श्याम बिहारी ने कहा कि यूपीएमटीए की मांगों को लेकर हड़ताल से पहले दिल्ली में केंद्र सरकार के मंत्रियों से मुलाकात कर समस्याओं से अवगत कराएंगे। मांगें न मानने पर हड़ताल का रास्ता अख्तियार करेंगे। कहा कि टोल बहुत ज्यादा हो चुका है, सरकार को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए। दादानगर को-ऑपरेटिव इस्टेट के चेयरमैन विजय कपूर ने कहा कि उद्यमी ट्रांसपोर्टरों के साथ हैं, उनकी परेशानी हमारी परेशानी है। क्योंकि बिना ट्रांसपोर्टरों के काम नहीं चलने वाला है। दि नयागंज किराना मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष अवधेश बाजपेई ने कहा कि पूरा किराना बाजार ट्रांसपोर्टरों के साथ है। क्योंकि सरकार किसी की नहीं सुन रही है।

वहीं, पीआईए के प्रदेश अध्यक्ष मनोज बंका, रघुनन्दन भदौरिया, ज्ञानेश मिश्रा ने भी ट्रांसपोर्टरों को समर्थन दिया। यूपीएमटीए के अध्यक्ष सतीश गांधी, शेषनारायण त्रिवेदी, श्रीकृष्ण गुप्ता, जेपी कुशवाहा, मनीष कटारिया, गुलशन गांधी, विमल कुमार शुक्ला, एबी त्रिपाठी, यतिश सिंह, अरुण कुमार वाधवा, गुलशन छाबड़ा, केसी शर्मा, राजेन्द्र सेठी, हिमांशु गुप्ता, सुभाष अग्रवाल आदि रहे।