केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा ने कराई मेरे पति की हत्या : मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में पत्नी का आरोप : देखें वीडियो

Posted by

पूर्वांचल के कुख्यात माफिया सरगना प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की सोमवार (9 जुलाई) सुबह उत्तर प्रदेश के बागपत जिले की जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई। जेल में माफिया डॉन की हत्या से जेल प्रशासन से लेकर लखनऊ तक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। बता दें कि पिछले दिनों लखनऊ में हुई गैंगवार में बजरंगी के साले पुष्पजीत सिंह की हत्या कर दी गई थी।

इस बीच करीब 10 दिन अपने पति की हत्या का शक जाहिर कर चुकी मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह का कहना है कि हत्या में कई नेता, सरकार और पुलिस शामिल है। सीमा का आरोप है कि उनके पति की हत्या एक साजिश के तहत की गई है। बता दें कि एक हफ्ते पहले ही सीमा सिंह ने चेताया था कि उनके पति को जान का खतरा है। सीमा सिंह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के एक मंत्री समेत कई बड़े बीजेपी नेताओं का नाम लेकर सनसनी फैला दी है।

दरअसल सीमा सिंह ने अपने पति की हत्या के लिए केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा पर साजिश रचने का आरोप लगाया है। समाचार एजेंसी IANS के मुताबिक मुन्ना बजरंगी की सोमवार को बागपत जिला जेल में हत्या हो जाने के बाद उसकी पत्नी सीमा सिंह ने केंद्रीय रेलमंत्री मनोज सिन्हा और पूर्व सांसद धनंजय सिंह समेत कई बड़े नेताओं पर उसके पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है।

सीमा का कहना है कि पूर्व सांसद धनंजय सिंह के साथ ही मनोज सिन्हा और पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने कई लोगों के साथ मिलकर उसके पति की हत्या का षड्यंत्र रचा। बागपत जिला अस्पताल में सीमा सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा, धनंजय सिंह, कृष्णानंद की पत्नी अलका और मनोज सिन्हा समेत प्रदेश के कई बड़े नेताओं ने शासन-प्रशासन से मिलकर मेरे पति की हत्या करा दी। ये लोग नहीं चाहते थे कि वह राजनीति में आगे जाए।

उसने कहा कि जेल में बंद सुनील राठी को किसी ने सुपारी दी या नहीं, इसकी जानकारी उसे नहीं है। लेकिन इससे पहले भी उसके पति पर कई बार हमले हो चुके हैं। इसकी शिकायत हमने सभी जगह की थी। लेकिन किसी ने भी हमारी बात को गंभीरता से नहीं लिया। आज वही हुआ, जिसका अंदेशा पहले से था। सीमा ने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद वह मुन्ना का शव लखनऊ ले जाएगी और मुख्यमंत्री कार्यालय पर धरना देगी।

सुनील राठी पर हत्या का शक
===========
हालांकि इस हत्याकांड के पीछे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के डॉन सुनील राठी का हाथ बताया जा रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे पश्चिमी उप्र और उत्तराखंड में सक्रिय कुख्यात अपराधी सुनील राठी गैंग का हाथ बताया जा रहा है। सुनील राठी यूपी के साथ उत्तराखंड में सक्रिय है। सुनील की मां राजबाला छपरौली से बसपा से चुनाव लड़ चुकी है। राज्य के पुलिस उपमहानिरीक्षक (कानून एवं व्यवस्था) प्रवीन कुमार ने बताया कि शुरुआती जांच में हत्या में कुख्यात अपराधी सुनील राठी का नाम सामने आ रहा है। हालांकि मामले की जांच की जा रही है।

बागपत पुलिस के अनुसार पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में आज यानी सोमवार को ही बागपत कोर्ट में मुन्ना बजरंगी की पेशी होनी थी। बजरंगी को रविवार झांसी जेल से बागपत लाया गया था। उसे तन्हाई बैरक में कुख्यात अपराधी सुनील राठी और विक्की सुंहेड़ा के साथ रखा गया था। कुख्यात हिस्ट्रीशीटर रहे मुन्ना बजरंगी पर हत्या लूट तथा अपहरण समेत अनेक जघन्य अपराधों के बड़ी संख्या में मुकदमे दर्ज थे।

पिछले साल मुन्ना बजरंगी पर एक पूर्व विधायक और उसके भाई को धमकाने का आरोप है। पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित और उनके भाई नारायण दीक्षित से 22 सितंबर 2017 को फोन पर रंगदारी मांगने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप था। बागपत की कोतवाली में मामला दर्ज हुआ था। पुलिस की छानबीन में लखनऊ के सुल्तान अली और झांसी जेल में बंद मुन्ना बजरंगी का नाम सामने आया था।

पत्नी ने 10 दिन पहले ही जताई थी हत्या की आशंका
=============
आपको बता दें कि पिछले दिनों मुन्ना बजंरगी की पत्नी सीमा सिंह ने अपने पति की हत्या कराए जाने की आशंका जताते हुए उसकी सुरक्षा बढ़ाने की मांग की थी। पत्नी ने एसटीएफ पर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सुरक्षा की गुहार लगाई थी कि उनके पति की जान को खतरा है। मुन्ना उस समय झांसी जेल में बंद था। सीमा ने 29 जून को प्रेस कल्ब में प्रेस कांफ्रेंस करके अपनी पत्नी की सुरक्षा के लिए सीएम योगी से गुहार लगाई थी।

सीमा का कहना था कि उनके पति का एनकॉउंटर भी हो सकता है। सीमा ने कांफ्रेंस में पहले ही दावा किया था कि यूपी की स्पेशल टास्क फोर्स मुन्ना का एनकॉउंटर करने की फिराक में है। उन्होंने पत्रकारों से कहा था कि इससे पहले झांसी की जेल में भी उनके पति पर हमला किया जा चुका है, क्योंकि कुछ बड़े नेता और अधिकारी मुन्ना की जान लेना चाहते हैं।

प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा ने कहा था, “मेरे पति की जान को खतरा है। उन्हें उचित सुरक्षा दी जाए। यूपी एसटीएफ और पुलिस उनका एनकाउंटर करने की फिराक में हैं। झांसी जेल में मुन्ना बजरंगी के ऊपर जानलेवा हमला किया गया। कुछ प्रभावशाली नेता और अधिकारी मुन्ना की हत्या करने का षड्यंत्र रच रहे हैं।”

ANI UP

@ANINewsUP
#WATCH Seema Singh, wife of Gangster Munna Bajrangi, says, “I want to tell UP CM Adityanath ji that my husband’s life is in danger. A conspiracy is being hatched to kill him in a fake encounter.” (29.06.18)

इस बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले की जांच कराने का आदेश दिया है। इस बीच योगी आदित्यनाथ ने कहा, जेल में हत्या कैसे हो गई। इसकी जांच कराई जाएगी और इसमें जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नही जाएगा। पूरे मामले की रिपोर्ट मंगाई गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘इस मामले में जेलर को सस्पेंड कर दिया गया है। न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जेल परिसर के भीतर इस तरह की वारदात होना गंभीर मामला है। इस पूरे केस की गंभीरता के साथ जांच की जाएगी और जो भी दोषी होगें उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।’

=======

 

 

=======