कैराना उपचुनाव : बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दलितों को नहीं डालने दिये वोट : रिपोर्ट

Posted by

सोमवार को कैराना और नूरपुर उपचुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) में गड़बड़ी की शिकायतों को लेकर सियासी संग्राम छिड़ा हुआ है. समाजवादी पार्टी ने बीजेपी पर ईवीएम के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए चुनाव रद्द करने मांग की है.

कैराना लोकसभा से आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि मेरे चुनाव को प्रभावित किया जा रहा है. स्थानीय प्रशासन दबाव में काम कर रहा है. दलित, मुस्लिम और जाट बहुल इलाकों में ईवीएम में गड़बड़ियां की जा रही हैं.

तबस्सुम ने आरोप लगाया कि हमारी जीत का अंतर कम करने की साजिश है. बाकी जगहों पर ईवीएम सामान्य चल रहे हैं. इस संबंध में उन्होंने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर शिकायत भी की है. RLD उम्मीदवार ने कहा, ‘मुझे लगातार शिकायतें मिल रही हैं. उन्होंने उम्मीद भी नहीं की होगी कि रमजान में इतने लोग वोट डालने के लिए आएंगे. शुरुआत में उनकी रणनीति यही थी कि रमजान में चुनाव कराए जाएं जिससे लोग वोट डालने न आएं.’

कैराना लोकसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव का मतदान पहले ही EVM मशीनों की खराबी के चलते विवादों में है. अब बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा न केवल बूथ पर कब्जा करने की खबर आ रही है. बल्कि बीजेपी कार्यकर्ताओं पर आरोप है कि उन्होंने दलित मतदाताओं को मतदान नहीं करने दिया बल्कि उनका वोट खुद ने ही डाला.

दरअसल, मामला शामली की कैराना कोतवाली क्षेत्र के ऊंचा गांव का है,जहां पर दलितों ने आरोप लगाया है कि गांव के दबंग उन्हें वोट नहीं डालने दे रहे हैं,जब वह मतदान करने के लिए गए, तो दबंगों ने उनसे मतदाता पर्ची छीन ली और उन्हें वहां से यह कहकर भगा दिया कि जाओ तुम्हारा वोट पड़ गया है.

दलितों ने आरोप लगाया है कि उन्होंने वहां पर अधिकारियों से बात भी की, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी.दलितों ने कहा कि दबंग लोग बीजेपी को वोट डाल रहे हैं और उन्हें वोट नहीं डालने दे रहे हैं, जिससे दलित समाज में रोष व्याप्त है.घटना के बाद से दलित समाज के लोग दलित चौपाल में इकट्ठा हुए और प्रशासन के खिलाफ नाराजगी जाहिर की.

गौरतलब है कि कैराना में भाजपा और विपक्ष के बीच सीधी टक्कर है. भाजपा के लिए ये सीट जीतना प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है विपक्षी पार्टियों का कहना है कि भाजपा चुनाव जीतने के लिए EVM में गड़बड़ी और दलितों के वोट डालने से रोक रही है.

===========