चलो राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे ने मुख्यमंत्री का दावेदार घोषित किया

Posted by

।अशफाक कायमखानी।
जयपुर।
हालांकि भाजपा के सत्ता मे आने पर मुख्यमंत्री पद का दावेदार वसुंधरा राजे को मानते हुये कांग्रेस मे अंदरखाने भारी उठा पटक के बावजूद मुख्यमंत्री का दावेदार घोषित नही करने के मध्य चलो सात दलो को मिलाकर बने राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे ने तो पूर्व विधायक कामरेड अमराराम को आज एक बैठक के बाद मुख्यमंत्री पद का दावेदार विधायक हनुमान बेनीवाल की सभा के दो दिन पहले घोषित कर दिया है।

हालांकि लोकतांत्रिक मोर्चे मे शामिल दलो से मोजूदा समय मे एक भी विधायक नही है। पर पूर्व विधायक एक अंको की तादाद मे जरूर होने के कारण कुछ क्षेत्रो मे कुछ उम्मीदवार मजबूती से चुनाव लड़ते नजर आ सकते है। दूसरी तरफ विधायक हनुमान बेनीवाल के हरदम किसान का बेटा मुख्यमंत्री बनाने की रट लगाने को नजर मे रखते हुये उसकी दो दिन बाद जयपुर मे सभा करके पार्टी घोषित करने से पहले किसान के बेटे किसान अमरा राम को मोर्चे ने मुख्यमंत्री का दावेदार घोषित करके बेनीवाल को पेशोपेश मे जरुर डाल दिया है।

सीकर जिले की धोद विधानसभा क्षेत्र से लगातार तीन दफा व फिर एक दफा दांतारामगढ़ से विधायक रहने वाले कोमरेड अमरा राम को मुद्दों की पहचान करके सफल आंदोलन चलाकर सरकार को झूकाने की कला का माहिर माना जाता है। लेकिन 2013 का चुनाव हारने के बाद विधानसभा मे उनकी आवाज सूनाई नही देने के कारण प्रदेश मे उनकी मकबूलियत मे फर्क जरूर पड़ा है।
कुल मिलाकर यह है कि राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे के मुख्यमंत्री का दावेदार घोषित करने का असरक्षतो प्रदेश की राजनीति मे खास असर नही पड़ेगा, लेकिन कांग्रेस पार्टी पर एक नैतिक दवाब जरुर बना है। कामरेड अमरा राम