जाटों ने क्यों छोड़ा हिन्दू धर्म,,,देखें वीडियो

Posted by

नोट पर लिखा है, ‘धारक को 500 कूपन अदा करने का वचन देता हूं.’ 500 के इन नोटों पर किसी में ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ लिखा था तो किसी पर ‘भारतीय मनोरंजन बैंक।

जानकारी के मुताबिक, एटीएम पर कोई गार्ड भी नहीं था. इस मामले में बैंक प्रबंधन ने एटीएम में नोट डालने वाली आउटसोर्सिंग एजेंसी के कर्मचारियों पर शिकायत दर्ज कराई है. मामला, सुभाषनगर के यूनाइटेड बैंक के एटीएम का है. ग्राहक अब ये नोट बैंक को वापस करने की प्रक्रिया में उलझ गए हैं।जानकारी के मुताबिक, रविवार (22 अप्रैल) को कई लोगों ने बारी-बारी से एटीएम से रुपए निकाले. धारकों की निकली हुई धनराशि में कुछ नोट चूरन वाले निकले।

निश्चित रूप से यह एजेंसी के कर्मचारियों का ही खेल है। अक्सर ये लोग बट्टे वालों से कम दाम में ख़राब नोट ले कर उसे बदल कर एटीएम में डाल कमाई करते हैं।

– प्राचीन भारत में ‘विमान’ पुष्पक विमान थे, मिसाइल थीं, राकेट थे,,,भारत ‘विश्व गुरु था,,,सब कुछ था मगर,,,’शौचालय’ नहीं थे,,,मक्कार झूठे लोगो

– साल 2017 – 18 में 7 लाख 40 हज़ार मामले बैंकों में ‘नक़ली करंसी’ जमा होने के सामने आये हैं, यह अपने आप में रिकॉर्ड है, सरकार के नकली नोटों पर पाबन्दी के दावे ग़लत साबित हुए

– भारत में हर महिने दस लाख 30 हज़ार नौकरियों की ज़रूरत होती है

– सरकार के झूठ
– चार साल के समय में कोई एक भी सांसद अभी एक भी गॉंव को ‘आदर्श ग्राम’ नहीं बना सका है, ‘विकास कैसे होगा
– स्मार्ट सिटी, घोसणा की थी 200 नए शहर बनाये जायेंगे, बाद में यह 100 नए शहर हुए, आगे चल कर जो शहर हैं उन्हें ही चुना गया, चयन के बाद स्मार्ट बनाने का नंबर आया तो शहर बड़ा होने के कारण उसे केवल ‘एक वार्ड’ तक सीमित कर दिया गया,,,और बन गए स्मार्ट सिटी
– काला धन अभी तक नहीं आया
– जान प्रतनिधियों के आपराधिक मामले एक साल में फ़ास्ट ट्रक कोर्ट में सुनवाई कर निपटाने का वादा प्रधानमंत्री ने 2014 में किया था, अभी तक कोर्ट ही नहीं बने हैं
– गंगा की सफाई के लिए उमा भारती ने कहा था कि ‘गंगा को निर्मल न बना पायी तो जल समाधि ले लुंगी’,,,अभी तक ज़िंदा हैं

यहाँ देखें वीडियो, जाटों ने क्यों हिन्दू धर्म छोड़ा था,,,,
============