झूठे रेप केस में दो भाईयों को 7 साल की सजा- लड़की को हो 10 साल की जेल

Posted by

Sagar PaRvez
==============

नई दिल्ली : भारत में कई रेप केस फेक रजिस्टर होते हैं. चूंकि मामला संवेदनशील और महिलाओं से जुड़ा होता है ऐसे में कई बेगुनाहों को सजा भुगतनी पड़ती है. इस बात को एक बार फिर साबित कर दिया 2001 के फरीदाबाद रेप केस ने. जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने इस केस में सजा काट रहे दो भाईयों को रिहा कर दिया है.

इस पूरे मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालिवाल ने कड़ा विरोध जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि एक झूठे रेप केस की वजह से दो भाईयों को 7 साल की सजा काटनी पड़ी. स्वाति मालिवाल ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट से तो उन्हें राहत मिल गई, लेकिन जिस प्रताड़ना और दर्द से वो गुजरे हैं उसे पूरा कौन करेगा.

स्वाति मालिवाल ने उन सभी महिलाओं और लड़कियों पर भी कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है जो कि झूठे रेप केस दर्ज करवाती हैं. साथ ही इस मामले में भी झूठा केस दर्ज करवाने वाली लड़की पर 10 साल की सजा की मांग रखी है.