ट्रांसजेंडर मॉडल को मिला मिस स्पेन का ताज

Posted by

Sagar PaRvez
================

ट्रांसजेंडर समाज का एक ऐसा नाम बन गया है जिसके बारे में सुनते लोगों के कान खड़े हो जाते हैं। लेकिन आज ट्रांसजेंडर भी समाज के लिए मिसाल बनकर सामने आ रहे हैं। ट्रांसजेंडर ने हर फील्ड में नाम कमाया हो..फिर चाहे वो पढा़ई को लेकर हो या फिर ग्लैमर की दुनिया में। एक बार कुछ ऐसा ही देखने को मिला जिसके बारे में सुनकर फिर समाज को एक नया उदाहरण देखने को मिलेगा।

एंजेला पोंस मिस स्पेन का ताज जीतने वाली पहली ट्रांसजेंडर मॉडल है। जिसके बाद वो अब मिस यूनिवर्स में भी हिस्सा लेने वाली है जो इस साल के आखिरी तक आयोजित किया जाएगा। पोंस की इस जीत को एक बड़ा बदलाव भी माना जा रहा है। इससे ना केवल इस देश बल्कि पूरी दुनिया में लोगों की सोच में बदलाव देखने को मिलेगा।

बता दें कि, मिस यूनिवर्स का आयोजन करने वाले संगठन ने छह सालों के बाद प्रतियोगिता में ट्रांसजेंडर्स के हिस्सा लेने पर लगे प्रतिबंध को हटाया है। मिस स्पेन का ताज मिलने के बाद पोंस ने अपने इंस्टा पर एक पोस्ट शेयर किया।

उन्होेंने लिखा, यूनिवर्स बनने से पहले उन्हें स्पेन का ताज मिलना एक बड़े सपने जैसा है। उनका लक्ष्य है कि, सम्मान और भिन्नता न सिर्फ उनकी जैसी क्मयुनिटी बल्कि, पूरी दुनिया के लोगों के लिए है।

मिस स्पेन का ताज पाने की रेस में उन्होंने 22 प्रतिभागियों को हराया। 26 साल की पोंस कहती हैं कि, मिस यूनिवर्स 2018 में हिस्सा लेने के पीछे 29 साल की कनाडाई मॉडल जेना तालाकोवा का बड़ा हाथ है।

तालाकोवा ने साल 2012 में एक कानूनी लड़ाई जीती थी, जिसके बाद मिस यूनिवर्स कनाडा की प्रतिस्पर्धा में ट्रांसजेंडर्स को भी हिस्सा लेने का अधिकार मिला। पोंस ने कहा कि, शुरू में उसे ट्रांसजेंडर होने के कारण उस प्रतिस्पर्धा के लिए आयोग्य घोषित किया गया था। जिसके चलते उसे वहां से बाहर कर दिया गया। लेकिन अपनी शानदार जीत के बाद, तालाकोवा ने इसके लिए कानूनी लड़ाई लड़ी और इसी के चलते अमेरिका में सभी ट्रांसजेंडर महिलाओं को 2013 से शुरू मिस यूनिवर्स में हिस्सा लेने का अधिकार मिला।