ताज़ा ख़बर….एक और शिक्षित युवा हुआ शिव ‘राज’ का शिकार”

Posted by

Omprakash Chouksey
============

*नौकरी न मिल पाने व आर्थिक तंगी के चलते एक और शिक्षित बेरोजगार युवा ने लगाया मौत को गले*

*सरकारी आँकड़े के अनुसार ही प्रदेश में हर रोज़ 2 युवा बेरोजगारी के कारण कर रहे हैं आत्महत्या*

खजुराहो थाना अंतर्गत ग्राम कुरेला में एक युवक (देशराज यादव)ने आज सुबह लगाई फांसी उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा है “मैं बहुत गरीब हूं, मैं 2011 से शिक्षक बनना चाहता था, मैंने B.Ed D.Ed दोनों ही कर लिया है, मगर अभी तक मुझे नौकरी नहीं मिल सकी । मैं अपने मां बाप का एकलौता सहारा हूं मेरे पिता अंधे हैं मेरे भाई छोटे-छोटे हैं, मैं कैसे अपने परिवार का भरण-पोषण करूं, इसलिए मैं मौत को गले लगा रहा हूं” ।

उस युवा द्वारा लिए गए ऐसे भयानक निर्णय का मैं कतई पक्षधर नहीं हूँ, उसे हिम्मत नहीं हारना चाहिए था, घोर काली रात के बाद उजाला जरूर आता है..। किंतु मैं ये दृढ़ता से कहना चाहूंगा कि प्रदेश सरकार शिक्षित युवाओं के भविष्य के प्रति किंचित भी गंभीर नहीं है। प्रदेश में बेरोजगारी अपने चरम पर ही नहीं, वरन प्रदेश की सबसे बड़ी समस्या है। रोज़गार देने में सरकार विफल रही है तो दूसरी तरफ सरकार ने खुद शिक्षित युवाओं का अतिथि शिक्षक, संविदा कर्मी आदि के रूप में भरपूर शोषण किया है..।