दिल्ली : कट्टरपंथी संगठन के कार्यकर्ताओं ने अब चर्च के गेट पर लिखा, ‘’मंदिर यहीं बनेगा’’

Posted by

भारत में कट्टरपंथी संगठन और उनके कार्यकर्त्ता देश के इतिहास, ऐतिहासिक इमारतों को बदलने में लगी हुई हैं, यह संगठन अपने भगवा अजेंडे पर काम करते हुए दलितों, अल्पसंखयकों का निशाना बना रहे हैं|

अभी शनिवार को ही दिल्ली के सफदरजंग इलाके के एक मकबरे को मंदिर में तब्दील करने की खबर आई थी. अब दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित कॉलेज सेंट स्टीफंस कॉलेज के अंदर बने चर्च के गेट पर ‘मंदिर यही बनेगा’ लिखा हुआ मिला है

खबर है कि RSS से जुड़े कुछ अराजक तत्वों ने चर्च के दरवाजे पर ‘मंदिर यहीं बनेगा’ लिख दिया. इसके अलावा चर्च के बाहर लगे क्रॉस को भी नुकसान पहुंचाया गया है. गेट पर ‘मंदिर यहीं बनेगा’ लिखा है वहीं क्रॉस पर ‘I’m going to hell’ यानी ‘मैं नर्क में जा रहा हूं’ लिखा हुआ है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुक्रवार देर शाम को छात्रों ने चैपल के गेट पर स्लोगन लिखा देखा था जिसे शनिवार दोपहर तक हटाया नहीं गया था.

दिल्ली यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स यूनियन (DUSU) अध्यक्ष रॉकी तुसीद ने इस संबंध में चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह मुद्दा वे संबद्ध अधिकारियों के सामने रखेंगे. तुसीद ने कहा, ‘देशभर के छात्रों को धर्म के आधार पर बांटने की कोशिश की जा रही है. यही चीज़ अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी हो रही है और यहां भी वही हो रहा है.’ एएमयू में मोहम्मद अली जिन्ना के 80 साल पुरानी तस्वीर को लेकर विवाद हो रहा है.

इस संबंध में एनएसयूआई ने भी बयान जारी किया है. एनएसयूआई के मीडिया इंचार्ज नीरज मिश्रा ने कहा, ‘सेंट स्टीफेंस कॉलेज शिक्षा के क्षेत्र में एक चमकता सितारा है जो छात्रों को उच्च गुणवत्ता की शिक्षा देता है. यह कॉलेज छात्रों को शिक्षा के साथ-साथ एक सकारात्मक नजरिया भी देता है. यह घटना निंदनीय है और दोषी पाये जाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए.’

डीयू की एक्जीक्यूटिव काउंसिल के सदस्य राजेश कुमार ने कहा, ‘हम इस घटना की निंदा करते हैं. वर्तमान सरकार के आने के बाद ऐसी घटनाओं में वृद्धि हुई है.’