नयी सरकार बनी, पहले भ्रष्टाचार के बहुत खिलाफ़ थे,,,एक IPS अधिकारी का सरकारी वयवस्था पर तंज़!

Posted by

Amitabh Thakur
===================
गलत सन्देश

नयी सरकार बनी,
एक नए मंत्री कहीं दिखे,
पहले भ्रष्टाचार के बहुत खिलाफ थे,
भ्रष्टाचारियों पर कठोरतम कार्यवाही
की अनवरत मांग करते थे,
भ्रष्टाचार मिटाने की बात
करते नहीं थकते थे.

किसी भले आदमी ने
उनकी बातों को
हकीकत समझ लिया,
मेरे सामने उन्हें कहा,
फलां मामले में
इनके निर्देशन में
एक एसटीएफ बनायी जाए,
दूध का दूध और
पानी का पानी हो जायेगा,
बहुत अच्छा सन्देश जायेगा.

बड़े मंत्री तुरंत घबरा गए,
बोले- अरे नहीं नहीं,
इन्हें एसटीएफ का मुखिया बना दिया,
तो गलत सन्देश जायेगा,
लोग यही कहेंगे
बदले की भावना से
कार्यवाही हो रही है.

बात सबकी समझ में आ गयी,
वह मामला आज तक
वहीँ का वही है,
मैं भी आज तक
वहीँ का वहीँ हूँ.

(एक अवांछनीय अफसर की डायरी)