नॉर्थ कोरिया ने पूरे अमेरिका को ज़द में लाने वाली मिसाइल के क़ामयाब टेस्ट के बाद मनाया जश्न

Posted by

सिओल।नॉर्थ कोरिया ने पूरे अमेरिका को जद में लाने वाली इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल ह्वासॉन्ग-15 के कामयाब टेस्ट के बाद शनिवार को जश्न मनाया। हालांकि इसमें तानाशाह किम जोंग उन मौजूद नहीं था। राजधानी प्योंगयांग के किम जोंग-II स्क्वॉयर पर हजारों लोग इकट्ठे हुए। सेलिब्रेशन के दौरान आतिशबाजी की गई और नॉर्थ कोरिया के लीडर्स के पोस्टर लगाए गए। बता दें कि 29 नवंबर को नॉर्थ कोरिया ने ह्वासॉन्ग-15 मिसाइल का टेस्ट किया था। मिसाइल सी ऑफ जापान में गिरी थी।

मिसाइल हमारी ताकत को दिखाती है
– एक अन्य बैनर में लिखा था- ‘जनरल किम जोंग उन कई साल जिएं। उन्होंने हमारे देश को एटमी ताकत दिलाकर महान काम किया है।’
– सेलिब्रेशन में नॉर्थ कोरियाई आर्मी के बड़े अफसर और पार्टी के बड़े नेता सभी मौजूद थे।
– मिसाइल के टेस्ट के बाद तानाशाह किम जोंग उन ने कहा था कि नॉर्थ कोरिया ने पूरी तरह से न्यूक्लियर ताकत हासिल कर ली है।
– मिसाइल लॉन्च के बाद अमेरिका ने उन को धमकी दी कि उकसावे वाली कार्रवाई की तो नॉर्थ कोरिया को पूरी तरह खत्म कर दिया जाएगा।
– ह्वासॉन्ग-15 की रेंज 13 हजार किमी से ज्यादा है। नॉर्थ कोरिया का इस साल ये 14th मिसाइल टेस्ट है।

भारत समेत दुनिया के 7 देशों के पास है ICBM
– दुनिया में अब तक 7 देश आईसीबीएम मिसाइल का टेस्ट कर चुके हैं। इनमें रूस, अमेरिका, चीन, भारत, फ्रांस, इजरायल और नॉर्थ कोरिया शामिल हैं।
– रूस ने 1957 में पहली बार आईसीबीएम का कामयाब टेस्ट किया था। तब मिसाइल ने 6,000 किमी की दूरी तय की थी।
– भारत ने 2016 में 5,000 किमी तक मार करने वाली अग्नि-5 मिसाइल का टेस्ट किया था।

अब तक क्या कर चुका है नॉर्थ कोरिया?
– नॉर्थ कोरिया 6 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है।
– इस साल अप्रैल में किम जोंग-उन ने समुद्र में लाइव फायरिंग कराई थी। इसे नॉर्थ कोरिया की अब तक की सबसे बड़ी मिलिट्री एक्सरसाइज कहा गया था। अप्रैल में ही नॉर्थ कोरिया डे के मौके पर उन ने परेड में हथियारों की ताकत का प्रदर्शन किया था।
– 2 साल में नॉर्थ कोरिया ने 21 बार मिसाइल टेस्ट किया है, इसमें चार नाकाम रहे।
– 6 साल में किम जोंग उन ने 43 शॉर्ट रेंज, 13 मीडियम, 10 क्रूज, 6 इंटर कॉन्टिनेंटल मिसाइल और 4 एटमी टेस्ट किए हैं।
– नॉर्थ कोरिया ने बीते 33 साल में 150 मिसाइल और न्यूक्लियर टेस्ट किए हैं। इनमें से आधे से ज्यादा किम जोंग उन ने किए हैं।

सबसे लंबी दूरी तय करने वाली मिसाइल रूस के पास
फ्रांस: एम-51, रेंज- 10,000किमी
– 2010 में सेना में शामिल हुई। पनडुब्बी से छोड़ा जा सकता है। 6 निशाने एक साथ साध सकती है।
चीन: डॉन्गफेंग5-ए, बी; रेंज- 13,000 किमी
– इसकी जद में पूरा अमेरिका आता है। यह एक साथ कई निशाने साध सकती है।
अमेरिका: यूजीएम-133ट्राइटेंड, रेंज- 11,300 किमी
– ये यूएस की सबसे अधिक रेंज वाली मिसाइल है। इसे पनडुब्बी से छोड़ा जाता है। स्पीड 21,000 किमी है।

रूस: आर-36एम, रेंज- 16000किमी
– ये सबसे ज्यादा रेंज वाली मिसाइल है। वजन 8.8 टन है। रफ्तार 28,440 किमी है।