पाकिस्तान की सबसे बड़ी मुश्किल!!!

Posted by

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने देश के दक्षिण-पश्चिमी प्रांत बलोचिस्तान के दौरे पर आर्थिक भ्रष्टाचार से निपटने पर बल दिया।

प्रधान मंत्री बनने के बाद उनका बलोचिस्तान का यह पहला दौरा था। उन्होंने भ्रष्टाचार को पाकिस्तान की सबसे बड़ी मुश्किल बतायी जिसे जड़ से ख़त्म किए बिना बलोचिस्तान सहित पाकिस्तान की तरक़्क़ी नहीं हो सकती।

इमरान ख़ान का बलोचिस्तान का यह दौरा जुलाई में चुनावी प्रचार के दौरान विभिन्न राज्यों में आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए दिए गए वादों के परिप्रेक्ष्य में देखा जा रहा है।

बलोचिस्तान क्षेत्रफल की दृष्टि से पाकिस्तान का सबसे बड़ा लेकिन निर्धनता की दृष्टि से सबसे ग़रीब राज्य है। अर्थशास्त्रियों की नज़र में बलोचिस्तान के पिछड़ेपन का कारण पाकिस्तान की केन्द्र सरकार द्वारा पारित बजट में इस राज्य के लिए विशेष होने वाला बजट बहुत कम होता है।

पाकिस्तान में ख़ास तौर पर बलोचिस्तान में बढ़ते चरमपंथ में निर्धनता के असर के मद्देनज़र, इस देश की केन्द्र सरकार के लिए ज़रूरी हो गया है कि वह इस राज्य के विकास के लिए बजट बढ़ाए ताकि बलोचिस्तान में सुरक्षा क़ायम हो, और इस राज्य के अलग होने के ख़तरे तथा अशांति से निपटा जाए।

बलोचिस्तान में ग्वादर बंदरगाह सहित दूसरी क्षमताओं तथा इस राज्य के पाकिस्तान-चीन कोरिडोर में स्थित होने के मद्देनज़र, बलोचिस्तान के आर्थिक विकास की उचित पृष्ठिभूमि मुहैया है। पाकिस्तानी प्रधान मंत्री को बलोचिस्तान की जनता को संतुष्ट करने के लिए ऐसी योजना बनानी होगी कि इस राज्य की जनता पाकिस्तान की केन्द्र सरकार द्वारा इन क्षमताओं के राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में इस्तेमाल के प्रभाव को अपने व्यक्तिगत जीवन में महसूस करे। ऐसा होने की स्थिति में बलोच जनता सरकार का साथ देगी।(