पाकीज़ा, रज़िया सुल्तान की अभिनेत्री ने वृद्धाश्रम में ली आख़िरी सांस, करती रहीं बेटे का इन्तिज़ार,,”मेरा राजा आएगा”

Posted by

जिंदिगी में कब केसा वक़्त आ जाये ये कोई नहीं जानता, लाइट, कैमरा, एक्शन के आलावा भी फ़िल्मी दुनियां की अनेक कहानियां हैं जो सुन कर इंसान हिल जाता है, चमक दमक और पार्टियों के लिए मशहूर फिल्म जगत कई बार बड़े बड़े दिग्गजों को अँधेरे में डाल कर भूल जाता है| कमाल अमरोही जैसे दिग्गज की फिल्मों में काम करने वाली अभिनेत्री की आखिरी सांस एक अनाथालय में निकली, पाकीज़ा, रज़िया सुल्तान जैसी शानदार फिल्मों की अभिनेत्री गीता कपूर अब इस दुनियां में नहीं रही हैं|

फिल्म ‘पाकीजा’ से सुर्खियां बटोरने वाली वयोवृद्ध बॉलीवुड अभिनेत्री गीता कपूर का शनिवार की सुबह यहां एक वृद्धाश्रम में निधन हो गया। गीता कपूर 67 वर्ष की थी और पिछले साल से वृद्धाश्रम में रह रही थी। पिछले वर्ष उनके बेटे एवं बेटी ने कथित तौर पर उन्हें घर से निकाल दिया था।

उनके निधन के बाद फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने ट्वीट किया, “दुखद है कि अपने बच्चों को आखिरी बार देखने की उम्मीद में गीता कपूर का देहांत हो गया।” गीता कपूर ने 100 से भी अधिक फिल्मों में काम किया जिसमें ‘पाकीजा’ एवं ‘रजिया सुल्तान’ जैसी फिल्में भी शामिल हैं।

अपने बच्चों द्वारा घर से निकाले जाने के बाद फिल्म निर्माता रमेश तौरानी एवं पंडित उनकी दवाओं का खर्च उठाते थे। कपूर के बेटे राजा पेशे से एक कोरियोग्राफर और उनकी बेटी एयर होस्टेस है।

कपूर को उनके बच्चे मई 2017 में गोरेगांव के एसआरवी अस्पताल में छोड़कर चले गए थे जिसके बाद, तौरानी एवं पंडित ने उन्हें अंधेरी पश्चिम के जीवन आशा वृद्धाश्रम में रखा।

उन्होंने अपने बेटे पर बुरा बर्ताव करने एवं नियमित रूप से भोजन न देने का आरोप भी लगाया था। गीता कपूर का सोमवार को अंतिम संस्कार होगा। इससे पहले, उनके शव को कूपर अस्पताल में रखा गया है।

=============

‘पाकीजा’ और ‘रजिया सुल्तान’ में एक्टिंग करने वालीं गीता कपूर का शनिवार की सुबह वृद्धाश्रम में निधन हो गया। उनके इस आखिरी वक्त में भी परिवार का कोई सदस्य मौजूद नहीं था। गीता कपूर आखिरी वक्त तक अपने बच्चों का इंतजार करती रही थीं। उनके एक बेटा और एक बेटी है।

गीता कपूर की मौत के बाद उनका शव मुंबई के विले पार्ले स्थित कूपर अस्पताल में रखा गया। वेबसाइट स्पॉटब्वॉय के मुताबिक, सोशल एक्टिविस्ट और प्रोड्यूसर अशोक पंडित और रमेश तोरानी वृद्धाश्रम गीता कपूर को देखने पहुंचे थे। इस दौरान अशोक पंडित ने कहा कि ‘मुझे गुस्सा आ रहा है कि गीता कपूर की मौत के बाद अभी तक उनका बेटा राजा नहीं पहुंचा। जैसा कि मैंने पहले कहा था कि हम दो दिनों तक उनके परिवार के सदस्यों के आने का इंतजार करेंगे।’

अशोक पंडित ने कहा कि ‘ये शर्मनाक है कि गीता कपूर के अंतिम संस्कार में उनका बेटा नहीं आया। जबकि उसे पता है कि पिछले 3 महीने से उनकी हालत दिन-ब-दिन खराब होती जा रही थी। वो लिक्विड डाइट पर जिंदा थीं। उन्हें दिखाई देना बंद हो गया था। दो दिन पहले जब मैं गीता कपूर से मिला तो उन्होंने कहा था जो कि उनके आखिरी शब्द भी थे ‘मेरा राजा आएगा।

अशोक पंडित ने आगे कहा कि ‘अगर मुझसे पूछा जाए तो मैं कहूंगा कि गीता कपूर अपने आखिरी वक्त में बहुत दुखी थीं। उन्हें उम्मीद थी कि उनका बेटा आएगा लेकिन शायद यही जिंदगी है। राजा (गीता कपूर का बेटा) को भी वहीं देखना पड़ेगा जो उसने अपनी मां के साथ किया।’

एक साल पहले गीता कपूर उस समय चर्चा में आई थीं जब उनका बेटा राजा उन्हें अस्पताल की फर्श पर ही छोड़कर चला गया था। रिपोर्ट के मुताबिक उनका बेटा आए दिन गीता की पिटाई करता था। बता दें कि गीता कपूर ने 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है।