बडी ख़बर : अधिकारियो की मिलीभगत का क़ारनामा देखिये, बना डाली काग़ज़ की सड़क..

Posted by

Omprakash Chouksey- 9893456101
==============

भैंसदेही। विश्वसनीय सूत्रों के हबाले से खबर आई है कि शासन विकासखंड के ग्रामों में सड़क निर्माण के लिए भरपूर राशि भेज रहा है और विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है लेकिन पंचायतों में बैठे शासन के ही नुमाइंदे इन योजनाओं को पलीता लगा रहे हैं जिससे ग्रामीणों को सुविधा तो नहीं मिल रही उल्टे शासन को लाखों रुपए का चूना लगा दिया जा रहा है ।
ऐसा ही एक मामला भैंसदेही विकासखंड के ग्राम पंचायत पलासपानी का सामने आया है इस ग्राम पंचायत में ग्राम पलाशपानी से लेकर गोबरगोंदी तक 3 किलोमीटर की सड़क जो मनरेगा के तहत सुदूर ग्राम सड़क योजना में बनाई जाना था और इसका कार्य भी एजेंसी द्वारा शुरू किया गया था । निर्माण एजेंसी द्वारा निर्माण बोर्ड पर लिखी जानकारी के अनुसार वर्ष 2016 – 17 में कार्य प्रारंभ होना बताया गया लेकिन वर्ष 2016-17 में बनाई गई सड़क आखिर गई कहां यह सोचने वाला विषय है ।

गत् 1 वर्ष में इस सड़क पर कोई निर्माण भी नहीं किया गया और इसके लिए चार वेंडरों को भुगतान मुरुम के परिवहन के नाम पर कर दिया गया, जो लगभग 3 लाख 19 हजार आठ सौ सात रुपए का है।
सवाल है कि आखिर सड़क बनी नहीं तो भुगतान किस बात का किया गया।
इसके लिए नियमों को ताक पर रखकर राशि का भुगतान किया जाना अधिकारियों को संदेह के दायरे में ला रहा है ।
इस सड़क निर्माण को लेकर पंचायत द्वारा जो सूचना पटल लगाया गया था उस पर राशि एवं अन्य आवश्यक सूचनाओं का उल्लेख भी नहीं किया गया था ।
इस संबंध में जनपद पंचायत के सीईओ नरेंद्र रघुवंशी ने बताया कि मुझे इस मामले में कोई जानकारी नहीं है मैं कल ही इसे दिखाता हूं यदि ऐसा कुछ सामने आएगा तो उसकी जांच की जावेगी ।
बरहाल 3 किलोमीटर की सड़क आखिर गई कहां क्या जमीन निकल गई या आसमान खा गया यह विषय ग्रामीणों में खासा चर्चा में है सर जी।