बागपत जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या : सुनील राठी का तो बीजेपी से टिकट पक्का मानो

Posted by

मेरठ। उत्तर प्रदेश की बागपत जिला जेल में अंडरवर्ल्ड डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस वारदात के बाद जेल प्रशासन से लेकर लखनऊ तक अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। वहीं फोरेंसिक टीम और डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी मौके पर पहुंच गए है। डीआईजी जेल ने मामले की सही ढंग से जांच कराने के आदेश दिए है। इसके अलावा डीएम ऋषिरेंद्र और एसपी जयप्रकाश भी मौके पर मौजूद है।

बजरंगी की हत्या कोई छोटी घटना नहीं है, यह घटना पूर्व नियोजित है, इन तथ्यों से इंकार नहीं किया जा सकता है कि वारदात में कुछ बाहरी बड़े नेताओं की भी मिली भगत रही है, सोशल मीडिया में बजरंगी की हत्या के बाद अनेक कमेंट आ रहे हैं, लोग प्रदेश व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं, जब आदमी जेल में भी सुरक्षित नहीं है तो फिर कहाँ जाये, बीजेपी के कुछ नेता बीते दिनों बिहार में दंगाइयों से जेल में जा कर मिले हैं, फूल माला पहना कर स्वागत दंगाइयों का स्वागत किया है, ऐसे में यह संभावना अभी से जताई जा रही है कि मुन्ना बजरंगी के हत्यारोपी को भी बीजेपी में शामिल कर चुनाव लड़ा दिया जाये, वैसे बीजेपी में आपराधिक रिकॉर्ड, छवि वाले नेताओं की कमी है|

मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे वेस्ट यूपी और उत्तराखंड में सक्रिय सुनील राठी गैंग का हाथ बताया जा रहा है। सुनील राठी यूपी के साथ उत्तराखंड में सक्रिय है। सुनील की मां राजबाला छपरौली से बसपा से चुनाव लड़ चुकी है। इस मामले में सीएम के आदेश के बाद जेलर उदय प्रताप सिंह, डिप्टी जेलर शिवाजी यादव, अरजिंदर सिंह (हेड वार्डन) और माधव कुमार (वार्डन) को निलंबित कर दिया गया है।

गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी की हत्या के मामले में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि, जेल परिसर के अंदर होने वाली ऐसी घटना एक गंभीर बात है। जिम्मेदार लोगों के खिलाफ गहन जांच और सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ANI UP

@ANINewsUP
Ordered a judicial inquiry&suspension of the jailor. Such an incident occurring inside jail premises is a serious matter. Will conduct an in-depth investigation&strict action to be taken against those responsible:UP CM on Gangster Munna Bajrangi shot dead at District Jail Baghpat pic.twitter.com/A0yNzUUrgi

पिछले साल 2017 में बसपा के पू्र्व विधायक लोकेश दीक्षित से मुन्ना बजरंगी और सुल्तीन ने रंगदारी मांगी थी। साथ ही जान से मारने की भी धमकी दी थी। इसी केस में आज उसकी कोर्ट में पेशी थी, रविवार सुबह झांसी जेल से लाकर उसे रात 9 बजे बागपत जेल में शिफ्ट किया था। बताया जा रहा है कि आज सुबह सुनील राठी और मुन्ना बजरंगी में झगड़ा हुआ जिसके बाद मुन्ना बजरंगी को गोली मार दी गई। इस दौरान कई राउंड फायरिंग हुई। पुलिस आलाधिकारी जेल में मौजूद हैं और मामले की जांच कर रहे हैं। बताया गया कि कुछ दिन पहले ही मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने अपने पति की जान को खतरा बताया था। मुन्ना की पत्नी ने दो दिन पहले लखनऊ में अपने पति की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था।

ANI UP

@ANINewsUP
#WATCH Seema Singh, wife of Gangster Munna Bajrangi, says, “I want to tell UP CM Adityanath ji that my husband’s life is in danger. A conspiracy is being hatched to kill him in a fake encounter.” (29.06.18)

माफिया मुन्ना बजरंगी को बागपत कोर्ट में पेश करने के लिए पुलिस कड़ी सुरक्षा के बीच रविवार को एंबुलेंस से भेजा गया था। पिछले वर्ष मुन्ना बजरंगी पर पूर्व विधायक और उसके भाई को धमकाने का आरोप है। इस मामले की सुनवाई सोमवार यानि आज होनी थी। इसके चलते रविवार को जेल के बाहर काफी भारी पुलिस बल भी तैनात रहा।

बड़ौत के पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित और उनके भाई नारायण दीक्षित से 22 सितंबर 2017 को फोन पर रंगदारी मांगने व जान से मारने की धमकी देने का आरोप था। बागपत की कोतवाली में मामला दर्ज हुआ था। पुलिस की छानबीन में लखनऊ के सुल्तान अली और झांसी जेल में बंद मुन्ना बजरंगी का नाम सामने आया था। प्रकरण की सुनवाई कोर्ट में चल रही है। इस समय मुन्ना बजरंगी झांसी जेल में बंद था।

पिछले सप्ताह बागपत की कोतवाली पुलिस ने इस मामले में झांसी जेल में तलबी भेजी थी, ताकि मुन्ना बजरंगी को कोर्ट में पेश किया जा सके। अदालत के आदेश का पालन कराने के लिए रविवार तड़के कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मुन्ना बजरंगी को बागपत रवाना किया गया। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर जेल के बाहर कई थानों की पुलिस भी तैनात रही। वहीं, बागपत रवाना होने से पहले मुन्ना बजरंगी का स्वास्थ्य परीक्षण भी हुआ था।