भाजपा : भारतीय जियो पार्टी

Posted by

by : Tara Shanker
————————–
बिना अस्तित्व में आये ही रिलायंस के ‘जियो इंस्टिट्यूट’ को मानव संसाधन मंत्रालय के प्रकाण्ड शिक्षाविद प्रकाश जावड़ेकर ने देश के सर्वश्रेष्ठ ‘इंस्टिट्यूट ऑफ़ इमिनेन्स’ में शामिल कर दिया! जब चारों तरफ से थू-थू होने लगी तो खावडेकर ने चयन का ये तर्क दिया:

1. इंस्टिट्यूट बनाने के लिए ज़मीन होना
2. एक उच्चस्तरीय कोर टीम का होना
3. इंस्टिट्यूट बनाने के लिए पर्याप्त फण्ड का होना
4. एक स्ट्रेटेजिक विजन प्लान और स्पष्ट वार्षिक योजना का होना

ज़रा बूझिये इन बेतुके तर्कों को! अब असल प्लान समझिये! जिंदल, बिड़ला, प्रेमजी, अशोका, अडानी, गलगोटिया, शिव नादर इत्यादि भारतीय उच्च शिक्षा रुपी गाय को दुहना पहले ही शुरू कर चुके हैं! तो अंबानी क्यों पीछे रहें! आने वाले समय में सरकार एकदम नीतिगत तरीक़े से ऐसे ही सभी कॉर्पोरेट घरानों को शिक्षा की ज़िम्मेदारी सौंप देगी! जिसको आप भ्रष्टाचार भी नहीं कह पायेंगे!

by : Tara Shanker