भारत ने किया अग्नि-4 का सफल परीक्षण

भारत ने स्वदेश निर्मित अग्निtj-4 मिज़ाइल का परीक्षण सोमवार को ओडिशा के बालासोर स्थित चांदीपुर इंटीग्रेटेड टेस्‍ट रेंज से किया जो सफल रहा।

भारतीय रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार सेना के सामरिक बल कमान ने ओडिशा तट के ए.पी.जे.अब्दुल कलाम द्वीप से इस मिज़ाइल का परीक्षण किया। अग्नि-4, चार हज़ार किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है। भारत ने पिछले ही हफ्ते अग्नि-5 का परीक्षण किया था।

अग्नि-4 के अबतक पांच टेस्‍ट लॉन्‍च हो चुके हैं। आखिरी बार नवंबर 2015 में इसका टेस्‍ट लॉन्‍च किया गया था। यह सभी टेस्‍ट लॉन्‍च सफल रहे थे। इंडियन आर्मी पहले ही अग्नि मिज़ाइल को डेप्‍लॉय कर चुकी है। इस मिसाइल को पहले अग्नि प्राइम में नाम से बुलाया जाता था।

स्‍वदेश में बनी यह मिज़ाइल सतह से सतह पर मार कर सकती है। बेहद एडवांस अग्नि-4 इसमें लगे रोड मोबाइल लॉन्‍चर से एक्टिवेट होने के बाद कुछ ही मिनटों में लॉन्‍च होने में सक्षम है। 4 हजार किमी के दायरे में आसानी से मार करने वाली यह मिज़ाइल 20 मीटर ऊंची है और 17 टन वजनी है। इसमें बहुत सी कटिंग एज टेक्‍नोलॉजी का उपयोग किया गया है। अग्नि-4 मिज़ाइल को भारत के किसी भी दूरस्थ और आंतरिक इलाके से लॉन्‍च किया जा सकता है। इसे परडुब्‍बी से भी लॉन्‍च किया जा सकता है।

जानकारों का कहना है कि अग्नि-4 के सफल परीक्षण से पाकिस्‍तान के साथ ही चीन के भी कई शहर उसके दायरे में आ गए हैं।