भारत में दम है तो 4 नवंबर के बाद ईरान से तेल ख़रीद कर दिखाए : ट्रंप ने दी भारत को धमकी

Posted by

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प भारत द्वारा रूस से एस-400 वायु प्रतिरक्षा प्रणाली की ख़रीद की डील पर इतना बौखला गए हैं कि उन्होंने अब नई दिल्ली सरकार को चेतावनी दे डाली है।

समाचार पत्र स्पूतनिक की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने सख़्त चेतावनी देते हुए कहा कहा है कि रूस से पांच अरब डॉलर के एस-400 हवाई रक्षा प्रणाली ख़रीद सौदे पर भारत के विरुद्ध जल्द ही दंडात्मक कार्यवाही करेंगे। इस बीच व्हाइट हाउस के सूत्रों ने सूचना दी है कि ‘काउंटरिंग अमेरिकाज़ एडवर्सरीज़ थ्रू सैंक्शंस एक्ट’ (काट्सा) के अंतर्रगत रूस के साथ हथियार के सौदे पर अमेरिकी प्रतिबंधों से भारत को छूट देने का अधिकार केवल ट्रम्प के ही पास है और अब डोनल्ड ट्रम्प भारत से इतना ग़ुस्से में हैं कि वह भारत पर काट्सा एक्ट के तहत प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहे हैं।

भारत और रूस के बीच हुए एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली सौदे और प्रतिबंधों के बावजूद भारत के ईरान से तेल खरीदने को लेकर अमेरिका पहले से ही बिफरा हुआ है और अब उसने सख्त कदम उठाने की धमकी दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी भरे लहजे में कहा है कि 4 नवंबर के बाद अगर कोई देश ईरान से तेल खरीदता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कदम उठाया जाएगा।

ट्रंप ने कहा कि 4 नवंबर तक दुनियाभर के देश ईरान से कच्चे तेल का आयात पूरी तरह से बंद करें, वरना उन्हें अमेरिका ‘देख लेगा’। ट्रंप ने भारत और चीन को भी चेतावनी देते हुए कहा कि ‘हम उन्हें भी देखेंगे’।

बता दें कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने साल 2015 में ईरान परमाणु समझौते से अमेरिका को अलग कर लिया था और उसके बाद ईरान पर प्रतिबंध लगा दिया था। ट्रंप ने ईरान से तेल खरीदने वाले सभी देशों से अपील की है कि वो ईरान से कच्चे तेल का आयात घटाकर शून्य कर लें और अगर ऐसा नहीं किया तो उन देशों पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।

गौरतलब है कि भारत ने हाल ही में रूस से एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली की खरीद के लिए 5 अरब डॉलर का सौदा किया है, जिसपर अमेरिका ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई थी। इसके अलावा भारत ने ये भी कहा है कि भारतीय कंपनियां ईरान से तेल खरीदना जारी रखेंगी।

एस-400 सौदे में अमेरिका का काट्सा एक्ट बना रोड़ा
==========
रूस से हुए एस-400 सौदे में अमेरिका का काट्सा एक्ट सबसे बड़ा रोड़ा बना हुआ है। दरअसल, ये एक्ट वैश्विक तौर पर अमेरिका के ईरान, उत्तर कोरिया और रूस के खिलाफ आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंधों के माध्यम से उन्हें निशाना बनाने की ताकत देता है।

बता दें हाल ही में अमेरिका ने ‘काउंटरिंग अमेरिकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस एक्ट’ (काट्सा) का प्रयोग कर एस-400 की खरीद को लेकर चीनी प्रतिष्ठानों पर प्रतिबंध लगाए थे। अब भारत पर भी यही खतरा मंडरा रहा है। हालांकि भारत को इसमें कुछ छूट मिलने की संभावना है। अमेरिका में मौजूद ‘फ्रेंड्स ऑफ इंडिया’ को आशा है कि ट्रंप भारत को काट्सा के तहत प्रतिबंधों से छूट देंगे, क्योंकि अमेरिका भारत को अपना महत्वपूर्ण रक्षा साझेदार मानता है।