#मध्यप्रदेश चुनाव : बीजेपी को हराने के लिए पार्टी एकजुट है और भारी बहुमत से सत्ता में वापसी करेगी : ज्योतिरादित्य सिंधिया

Posted by

भोपाल।मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों की अपनी-अपनी जीत के लिए जोरआजमाइश जोरों पर है. सूबे में चुनाव प्रचार चरम पर है, इस बीच ट्विटर इंडिया के साथ एबीपी न्यूज की खास बातचीत में कांग्रेस के कद्दावर नेता और चुनाव कैंपेन के मुखिया ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह से अपने झगड़े, राहुल गांधी की पीएम उम्मीदवारी और अपनी सीएम उम्मीदवारी पर खुलकर बात की. उन्होंने साफ किया कि पार्टी एकजुट है और भारी बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करेगी.

सिंधिया ने संगठन के अंदर किसी भी प्रकार की टूट-फूट और दिग्विजय सिंह से झगड़े की बात को खारिज करते हुए कहा, ”दिग्विजय सिंह जी और मेरे बीच कहीं कोई घटना नहीं घटी, बल्कि ये खबर सुन कर हम लोग भी आश्चर्यचकित हो गए थे.” सिंधिया ने कहा कि इस खबर के दूसरे दिन जब हम दोनों मिले तो एक दूसरे को देखते रह गए. ट्विटर पर लाइव किए गए इस इंटरव्यू में सिंधिया ने कहा, ”कांग्रेस में एकता है, सभी लोग एक हैं, पार्टी में कहीं कोई विवाद नहीं है.”

बता दें कि हाल ही में खबर आई थी कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच झगड़ा हो गया था. इस खबर के सामने आने के बाद कहा जाने लगा था कि पार्टी के नेताओं में एकता नहीं है. इस खबर के मीडिया में आने के बाद दिग्विजय सिंह ने कहा था, ”मीडिया में उनके और सिंधिया के बीच हुई बहस की खबरें गलत हैं.” उन्होंने कहा था, ”मध्य प्रदेश में बीजेपी की भ्रष्ट सरकार को हराने के लिए सब एकजुट हैं.”

चुनावी सर्वे में मध्य प्रदेश में कांग्रेस की हार की खबर से बिना घबराए उन्होंने कहा, ”सर्वे पक्ष में हो या विपक्ष में हो हमें जनता के लिए काम करना है.”

एबीपी न्यूज से एक्सक्लूसिव बातचीत के दौरान सिंधिया ने राहुल गांधी को प्रधानमंत्री और खुद को मुख्यमंत्री बनने को लेकर भी अपनी राय रखी. राहुल के प्रधानमंत्री बनने को लेकर सिंधिया ने कहा, ”यूपीए गठबंधन मिल कर तय करेगा कि पीएम पद का चेहरा कौन होगा. अभी इस पर कुछ कहना ठीक नहीं होगा.” उन्होंने कहा, ”2019 में साफ हो जाएगा कि राहुल गांधी कितने लोकप्रिय हैं. राहुल जी बेबाकी से मोदी जी का सामना कर रहे हैं. मेरी व्यक्तिगत विचारधारा है कि राहुल जी को ही प्रधानमंत्री बनना चाहिए.”

राम मंदिर के तुरंत निर्माण के सवाल पर सिंधिया ने काफी संभलकर बयान दिया. उन्होंने साफ कहा कि जब राम मंदिर का मुद्दा कोर्ट में है तो उस पर टिप्पणी करना ठीक नहीं है. जो कोर्ट का आदेश होगा उन्हें मान्य होगा.

एबीपी न्यूज़ से बातचीत में सिंधिया ने एमपी में रोजगार, महिला सुरक्षा, कांट्रेक्ट शिक्षक और अस्पताल में डाक्टरों की कमी के मुद्दे पर अपनी बात रखी और साफ किया कि वो इन सब मुद्दों में सुधार करेंगे.