मध्य प्रदेश : क़र्ज़ से परेशान किसान ने ज़हरीला पदार्थ खाकर की आत्महत्या

Posted by

होशंगाबाद।मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में कर्ज के दबाव में किसान ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली। किसान के परिजनों का कहना है कि उन पर 5-6 लाख रुपए का कर्ज था। फसल की सही कीमत नहीं मिल पाने की वजह से कुछ दिन से तनाव में थे। किसान ने मूंग की फसल बोई थी, लेकिन उसका भुगतान नहीं हो पाया था। उसने कर्ज के लिए पत्नी के सोने के गहने भी बैंक में रख दिए थे।

– पुलिस ने कर्ज को लेकर स्पष्टीकरण नही दिया है। पुलिस का कहना है कि पहले इस मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई तय होगी।

– जानकारी के अनुसार पिपरिया के पास गड़ागांव निवासी बृजमोहन पटेल (40) के पास 12 एकड़ जमीन है, उसने किसान क्रेडिट कार्ड और सोना गिरवी रखकर बैंकों से 5-6 लाख कर्ज ले रखा था। रविवार की शाम को जब वह काम करके लौटा तो घर में उसने कीटनाशक पी लिया।

– मुंह से झाग निकलता देख परिजन किसान को पिपरिया अस्पताल लेकर आए। किसान की हालत गंभीर बनी हुई थी, थोड़ी ही देर में किसान की मौत हो गई। रात को डेड बॉडी अस्पताल में रखी गई, सुबह पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को दे दिया गया। किसान बृजमोहन पटेल के दो छोटे बच्चे हैं।

– किसान के बड़े भाई मदनलाल पटेल ने बताया कि किसान ने बैंकों से 5-6 लाख का कर्ज ले रखा था, इससे वह परेशान था। हमने उसे समझाने की कोशिश की, लेकिन वह माना नहीं।

– किसान बृजमोहन की मौत के बाद अस्पताल के बाद कांग्रेसियों ने नारेबाजी की और किसान के परिजनों के लिए मुआवजे की मांग की। हालांकि बाद में पुलिस ने उन्हें समझाइश देकर वहां से हटा दिया।

– किसान का उनके गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया है।