”मास्टरबेशन सीन पर एक्ट्रेस स्वरा भास्कर का जवाब”

Posted by

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के बाद इस साल की सबसे चर्चित फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ रही है। इस फिल्म में एक्ट्रेस स्वरा भास्कर के एक सीन को लेकर खूब चर्चाएं हुई। फिल्म के इस सीन में स्वरा भास्कर मास्टरबेशन करती दिखती है, जिसपर लोगों ने आपत्ति जताई है। फिल्म में इस सीन को लेकर लोगों ने सोशल मीडिया पर स्वरा को ट्रोल कर लिया। इस सीन को लेकर एक इंटव्यू के दौरान स्वरा ने कहा कि हमारे समाज में महिलाओं की यौन इच्छाओं को अपराध माना जाता है।

स्वरा के मास्टरबेशन सीन पर बवाल फिल्म में स्वरा के इस सीन को लेकर खूब विवाद हुआ है। इंटरव्यू में पूछे गए एक सवाल के जवाब में स्वरा ने कहा कि मुझे पता था कि शॉक वैल्यू तो होगी ही। उन्होंने कहा कि मास्टरबेशन एक नैचुरल चीच है, लेकिन चुकी लोगों ने ऐसा पहले कभी देखा नहीं है, इसलिए उन्हें बात हजम नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस सीन को करने में काफी सावधानी बरती थी। उन्होंने इस बात का खास ख्याल रखा था कि फिल्म का वो सीन पोर्न क्लिप नहीं बल्कि कॉमेडी लगे।

सीन से पहले हिचकिचाहट स्वरा ने इंटरव्यू में कहा कि इस सीन को लेकर कोई हिचकिचाहट नहीं थी। वो जानती थी कि ये लोगों के लिए शॉकिंग होगा। स्वरा ने कहा कि मुझे पता था कि शॉक वाला रिऐक्शन तो आएगा, इसीलिए सीन करते वक्त कोशिश की कि वो पोर्न की तरह नहीं बल्कि कॉमिक लगे। मैंने बस अपनी टीम पर भरोसा किया , मुझे निर्देशक शशांक खेतान पर और प्रोड्यूसर रिया कपूर पर भरोसा था।

महिलाओं की यौन इच्छाओं को अपराध माना जाता है स्वरा ने कहा कि हमारे समाज में लड़कियों को यही सिखाया जाता है कि लड़के जहां चाहे जो करें, लेकिन आप अपने बेडरूम में भी करो तो आपको शर्मिंदा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे समाज में महिलाएं जब भी यौन इच्छाओं के बारे में सोचती हैं, तो उसके साथ अपराधबोध कराया जाता है। इससे पहले मास्टरबेशन सीन पर ट्रोल किए जाने पर स्वरा ने ट्रोलर्स को जवाब दिया था कि ‘ऐसा लगता है कि इन सभी लोगों कि टिकटें या फिर ट्वीट किसी आईटी सेल ने स्पॉन्सर की थीं।’ स्वरा ने एक नहीं, बल्कि उन सभी ट्रोल्स को जवाब दिया, जिनका कहना था कि वो अपनी ग्रैंडमदर्स के साथ ये फिल्म देखने में शर्म आती है।

महिलाओं के मास्टरबेशन पर क्या कहता है साइंस?
हाल ही में रिलीज हुई फिल्म वीरे दी वेडिंग में अभिनेत्री स्वरा भास्कर को मास्टरबेट करते हुए एक दिखाया गया है, इस सीन को लेकर सोशल मीडिया में काफी चर्चा में हैं। इस सीन को लेकर स्वरा को सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना करना पड़ रहा है, लगातार भद्दे कमेंट्स भी उनको लेकर किए जा रह है। कई लोगों ने इस सीन को लेकर लिखा है कि ये ‘शर्मिंदा’ करने वाला है। स्वरा ने हालांकि सोशल मीडिया पर जवाब दिया है लेकिन सीन को लेकर बहस जारी है। वहीं इस सीन के बाद महिलाओं के हस्तमैथुन करने को लेकर भी चर्चाएं शुरू हो गई हैं।

महिलाएं भी करती हैं हस्तमैथुन! महिलाओं के हस्तमैथुन करने को लेकर समाज में बहुत खुलापन नहीं है और ना ही इस पर बहुत बात नहीं होती है, स्वरा पर फिल्माए गए सीन को लेकर हो रहे बवाल के पीछे भी इसे एक वजह माना जा रहा है लेकिन कई सर्वे कहते हैं कि 15 साल से ज्यादा उम्र की ज्यादातर महिलाएं कभी ना कभी हस्तमैथुन कर चुकी हैं। वहीं इस पर भी हमेशा सवाल रहे हैं कि हस्तमैथुन सेहत के लिए अच्छा है या खराब। एक्सपर्ट्स की मानें तो हस्तनमैथुन में कोई खराबी नहीं है बल्कि ये कई तरह से फायदेमंद है।

हस्तमैथुन पर क्या कहते हैं एक्सपर्ट एक्सपर्ट डॉक्टर कहते हैं कि हस्तमैथुन दुनियाभर में एक आम सेक्सुअल एक्टिविटी है और ये फिजिक्ली, मेंटली और इमोशनली राहत देने वाली क्रिया है। डॉक्टर इसके जो फायदे गिनाते हैं उनमें- हस्तमैथुन आनंददायक और हेल्दी है। ऑर्गैजम से एंडॉरफिंस डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन रिलीज होता है जिससे मूड अच्छा बनाने में मदद मिलती है। तनाव से राहत और तनाव मुक्त करना ( यौन तनाव सहित) साथी के साथ यौन संबंध नहीं रखने वाले लोगों को यौन सुख। गर्भावस्था और कई तरह के संक्रमण के जोखिम के बिना एक रोमांचक यौन सुख।

पीरियड्स का दर्द होता है कम कुछ मामलों में हस्तमैथुन करने से पीरियड्स के दौरान कम दर्द होता है। अच्छी नींद में मदद करता है और दिमाग को शांत रखने में मदद करता है। जननांग की मांसपेशी को मजबूत बनाता है। यौन संतुष्टि के स्तर को बढ़ाता है। कुछ प्रकार के यौन अक्षमता के लिए उपचार प्रदान करता है। अपने शरीर को बेहतर तरीके से जानने में मदद करता है।

सेक्स लाइफ होती है बेहतर हस्तमैथुन आपको और आपकी सेक्स लाइफ को सशक्त बनाता है। इससे आप अपने सेक्स पार्टनर को खुलकर बताते हैं कि क्या पसंद करते हैं। हस्तमैथुन से खून का प्रवाह बढ़ता है और शरीर के ऊतक ज्यादा बेहतर ढंग से काम कर पाते हैं। शारीरिक संबंध बनाने के प्रति लज्जा, खेद और शर्म की भावना खत्म हो जाती है। अच्छी नींद और तनाव मुक्ति के अलावा ये बहुत आसान और सस्ता है।

महिलाओं में भी आम है हस्तमैथुन महिलाओं में हस्‍तमैथुन आम है। महिलाएं इसके लिए अमूमन अपनी उंगलियों का सहारा लेती हैं, वहीं बाजारों में इसके लिए वाइब्रेटर भी उपलब्ध हैं। एक रिसर्च के मुताबिक, 18 से ऊपर उम्र की अधिकतर महिलाओं ने कम से कम एक बार हस्तमैथुन किया तो कुछ महिलाएं इसे नियमित तौर करती हैं।

===