यूपी : पुलिस अवैध वसूली थी व्यस्त, लुट गई भाजपा नेता की वाइन शॉप समेत कई दुकानें

Posted by

Sagar PaRvez
===============

यूपी-सहारनपुर : कानून व्यवस्था में सुधार के भले ही कितने दावे किए जाए, लेकिन बदमाश लगातार पुलिस को चुनौती दे रहे हैं। हाल यह है कि पिछली घटनाओं का पुलिस खुलासा भी नहीं कर पाती कि बदमाश नई घटना को अंजाम दे देते हैं। गुरुवार को शाम ढलते ही बदमाशों ने पुलिस चेक पोस्ट से चंद कदमों की दूरी पर स्थित अंग्रेजी शराब की दुकान और कैंटिन पर धावा बोलते हुए लूटपाट मचाया। इस लूट में शराब की दुकान से 80 हजार रुपए, कैंटीन मालिक से छह हजार और कैंटीन में शराब का सेवन कर रहे लोगों से 15 हजार रुपए की नकदी लूट ली। घटना के बाद आरोपी लुटेरे हथियार लहराते हुए फरार हो गए। यह शराब की दुकान भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष की दुकान है।

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व जिला अध्यक्ष मेलाराम पवार की नागल में शराब की दुकान है। देर शाम सेल्समैन अनिल कुमार दुकान पर बैठा था, तभी वहां 6 बदमाश हथियारों से लैस होकर आए तथा दोनों सेल्समैनों को बाहर से ही हथियार दिखाकर गेट खुलवा लिया। इसके बाद लुटेरे दुकान में घुसकर गल्ले में रखी करीब 80 हजार की नगदी तथा दोनों सैल्समैनों की जेब में मौजूद करीब 3 हजार रूपए लूट लिए। बदमाशों ने वहां रखी आठ शराब की बोतलें भी लूटकर अपने बैग में भर ली और बराबर की दुकान में स्थित कैंटीन के गल्ले में रखे 6 हजार रुपए लूट लिए। यही नहीं बदमाशों ने वहां मौजूद ग्राहकों को भी नहीं बख्शा। कैंटीन में शराब का सेवन कर रहे 8 ग्राहकों को तमंचे दिखाकर बंधक बना लिया तथा सभी के पास से करीब 15 हजार रुपए की नगदी व मोबाइल लूट लिए और जंगल के रास्ते फरार हो गए।

लूट का शिकार हुए लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने आसपास खेतों में आरोपियों की खोजबीन की, मगर बदमाशों का कहीं कोई सुराग नहीं लग सका। खोजबीन के दौरान पुलिस को गन्ने के खेतों से सभी के मोबाइल बरामद हो गए। बताया जाता है कि जिस वक्त लूट की घटना हुई, उस समय पुलिस कर्मी पॉपुलर की लकड़ी और अवैध खनन से भरे वाहनों से अवैध वसूली कर रहे थे। सूचना दिए जाने के काफी देर बाद ही पुलिस मौके पर पहुंच सकी, लेकिन तब तक बदमाश फरार हो चुके थे। इस बाबत एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह का कहना है कि जांच की जा रही है और बदमाशों की तलाश की जा रही है। जल्द ही बदमाश पुलिस की पकड़ में होंगे।