संघी देशभक्ति की आड़ में किस तरह ज़हर फैलाते हैं : इस वीडियो में देखें

Posted by


Satyendra PS

==========
संघी देशभक्ति की आड़ में किस तरह आसानी से जहर फैला देते हैं, वह आम आदमी को समझ में भी नहीं आता।

इस वीडियो को गौर से देखें।

मिट्टी का दिया खरीदने टीका लगाए जो मोटा जा रहा है, उसे सहजता से आप ब्राह्मण मान सकते हैं। मिट्टी का बर्तन बनाने वाला कुम्हार जाति का है ही, जो ओबीसी से आता है।
पंडित इस वीडियो में मिट्टी के दिये खरीदकर कुम्हार पर एहसान कर रहा है जिसके कारण कुम्हार उसके सामने गिड़गिड़ाने टाइप हाथ जोड़ रहा है। पंडित कुम्हार का पैर नहीं छू रहा है जबकि कुम्हार का पैर छूना चाहिए था क्योंकि वह दिया बनाकर भारतीय संस्कृति की रक्षा कर रहा है,कीट पतंगों को जलाने के लिए दिए बना रहा है। लेकिन ब्राह्मण भला उस मेहनतकश नीच कुम्हार के पैर क्यों छूने लगा? आरएसएस को तो स्थापित करना है कि चन्दन फटाका वाले का पैर सबको छूना है!

विदेशी सामान खरीदने में जो पैसा जा रहा है, उससे आतंकवादी सब हथियार खरीद रहे हैं और वो आतंकवादी मुस्लिम है, ऐसा वीडियो में दिखाए गए व्यक्ति को देखकर सहजता से लगता है।

इस समय भारत का व्यापार असंतुलन कराने में चीन का अहम रोल है। कुल कारोबारी घाटे में आधा योगदान चीन का है जो झालर से लेकर खिलौना और मोबाइल तक भारतीय बाजार में पाट दिया है। चीनी कम्पनी अलीबाबा का भारतीय दलाल पेटीएम प्रधानमंत्री का खास है। आपको भी समझ मे नहीं आता होगा कि यह पेटीएम कैशबैक कैसे देता है, जब आप उसके खाते में थोड़ा सा पैसा जमा कर उसके एप से भुगतान करते हैं! ? एसबीआई क्यों नही 1000 रुपये का सामान खरीदने पर 50 रुपये कैशबैक दे देता है, जिसके यहां आप पूरा पैसा जमा रखते हैं?

और संघियों ने वीडियो ऐसा बनाया है जैसे सारा इलेक्ट्रिक दीया पाकिस्तान से आ रहा है, जिससे मुसलमान आतंकवादी हो जा रहे हैं!

मजे की बात है कि कांग्रेसी, बसपाई, सपाई भी इस वीडियो को मजे से एक दूसरे को दिवाली में फारवर्ड कर रहे हैं!

बकिया तो जो है सो हइये है।

===