#सपनो_का_हिंदुस्तान : वे ह्रदय सम्राट होंगे जो औरतो के जिस्म कब्र से निकालकर दुष्कर्म करने का साहस पाले होंगे

Posted by

Sikander Kaymkhani
=============
#सपनो_का_हिंदुस्तान

तस्वीर में जो अनाथ बच्चे दिखाई दे रहे थे उनमें दो बच्चो ने जीन्स पहनी हुई थी

तस्वीर में जो अनाथ बच्चे दिखाई दे रहे थे उनमें दो बच्चो ने जीन्स पहनी हुई थी. अभी वे बच्चे बहुत छोटे है। उनकी कमर पे वो हड्डी विकसित नही हुई है जिसपे जीन्स पेंट ठीक से ठहर सके। अभी उनकी उम्र थी कि एलास्टिक रबड़ वाली नेकर पहने या ऐसे नंगे ही घूमे। इस उम्र और मौसम में बच्चो पे कपड़े पहनने की कोई पाबंदी भी नही होनी चाहिए। खासकर जब बच्चे ग्रामीण परिवार से हो तब तो गाय भैंस बकरी की तरह मस्त होकर घूमते रहे फिर भी कोई पाबन्दी नही होनी चाहिए। लेकिन ये उन अभागे बच्चो का बाप ही होगा जिसने उम्र से पहले बच्चो की कमर में जीन्स पेंट लाकर चढा दी होगी.. वे बच्चे एक हाथ मे रोटी की बीड़ी और दूसरे से जीन्स पकड़े घूमें होंगें.. जीन्स का बार बार सरकना और बच्चो का बार बार उसे चढा लेना। बच्चे आईने में खुद को जीन्स पहना देखकर खूब इतराए होंगे। जीन्स पे खूब सारे पॉकेट देखकर खूब खुश हुए होंगे भले ही पॉकेट खाली हो। ये औलाद को वक्त से पहले मिली हुई नैमत बाप के हाथों से मिलती है। क्रिकेटर मुहम्मद अज़हरुद्दीन ने अपने जवान बेटे को दुलार स्वरूप बहुत महँगी बाइक खरीदकर दी थी, हालांकि वो बाइक ही बेटे की मौत का कारण बनी.. लेकिन यहां बाप की फितरत साफ हो गयी कि वो अपनी औलाद बस खुश देखना चाहता है। बाप दे नही पाता वो अलग बात है लेकिन वो बहुत कुछ देना चाहता है और बहुत कुछ दे चुका होता है जिसका अहसास औलाद को नही होता। बहरहाल अब उन यतीम हो चुके बच्चो के चेहरे पे मुस्कुराहट देखने के लिए कौन उन्हें वक्त से पहले चीज़े लाकर देगा?? उपकार करने वाले तो उन यतीम बच्चो को सेकड़ो मिल जाएंगे लेकिन बाप नही मिल सकता..। जो बच्चे अनाथ हो गए मुमकिन है उन्हें दुनिया मिल जाएगी यहां तक कि खुदा मिल जाएगा लेकिन जीते जी बाप नही मिल सकेगा। भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा का बेशर्मी भरा बयान आया है कि गाय के नाम पे इंसान को मारने वाले लोग उसके आदमी थे और उसके आदमियों ने तो कम ही मारपीट की ज्यादा मारपीट नही की..वो तो अस्पताल में हार्ट अटैक से मरा है। अखलाक से लगाकर अकबर तक यही वो “हिन्दू राष्ट्र” है जिसे बनाने के लिए देश की शीर्ष पार्टी सहित सेकड़ो उग्र संघटन दिन रात एक किये हुए है। आपके सपनो के हिंदू राष्ट्र में ज्ञानदेव आहूजा, शम्भू रेगर और जयंत सिन्हा जैसे लोग भारी तादाद में होंगे। वे बोलेंगे तो जहर उगलेंगे, वे जब सोचेंगे तो किसी की मौत सोचेंगे.. उन्हें किसी के दर्द का अहसास नही होगा ना ही किसी की चीख सुनाई देगी। दर्द से कराहती इंसानी चीखों को सुनकर वे और अधिक विराट हो जांएगे। हिंसक नारो से उनकी छातियां फूल जाएगी.. शोर मचाते चीखते चिल्लाते हुए डीजे उनकी आस्था होंगे। उस चीख से आगे ये किसी की चीख नही सुनेंगे। यही वे ह्रदय सम्राट होंगे जो औरतो के जिस्म को कब्र से निकालकर दुष्कर्म करने का साहस पाले होंगे। यही होगा वो आपका सपनो का हिन्दू राष्ट्र।