सीरिया में मिला अमरीका निर्मित ताव मिसाइलों का भंडार : देखें वीडियो व फ़ोटो

Posted by

सीरिया में जारी युद्ध में अमेरिका आतंकवादियों को हर प्रकार की मदद करता आ रहा है, यहाँ जंग में अमेरिका की कोशिश आतंकवादियों के सहारे असद की सत्ता को उखाड़ना है, सीरिया में मिला सऊदी अरब का भयानक शस्त्रागार, अमरीका निर्मित ताव मिसाइलों का भंडार मिला है|
सीरिया में राजधानी दमिश्क़ से कुछ ही दूरी पर स्थित पूर्वी क़लमून इलाक़े को आतंकियों के नियंत्रण से आज़ाद कराया गया है।

सीरियाई सेना ने आतंकियों को उनके परिवार के साथ इस इलाक़े से निकलने की इस शर्त पर अनुमति दी कि वह अपने भारी हथियार सेना के हवाले कर दें। पूर्वी क़लमून के ज़मीर शहर में सीरियाई सेना को सऊदी सेना का बहुत बड़ा शस्त्रागार मिला है। सऊदी अरब की सेना जैशुल इस्लाम नामक आतंकी संगठन का आर्थिक और सामरिक समर्थन कर रही है। यह सीरिया ई आतंकियों का संगठन है जिसके सऊदी अरब से संबंध हैं।

पूर्वी ग़ूता के इलाक़े में सीरियाई सेना ने सफल आप्रेशन किया जिसके नतीजे में इस पूरे इलाक़े और विशेष रूप से अपने मुख्य गढ़ दूमा से जैशुल इस्लाम के आतंकियों को बाहर निकलना पड़ा जिसके बाद क़लमून में भी उनकी स्थिति बहुत कमज़ोर हो गई और वह वहां से भी बाहर निकलने पर मजबूर हो गए। निकलने से पहले आतंकियों ने हथियारों का बहुत बड़ा भंडार सीरियाई सेना के हवाले किया।

सेना के साथ आतंकियों का यह समझौता हुआ कि वह अपने भारी हथियार सेना के हवाले करेंगे जिसके बदले में सेना उन्हें इस इलाक़े से निकलकर इदलिब और जराबलस जाने देगी।

सऊदी अरब की ओर से जैशुल इस्लाम संगठन का राजनैतिक, आर्थिक, सामरिक और प्रचारिक समर्थन किया जाता है इसीलिए उसे सऊदी अरब की सेना का नाम भी दिया गया है।

तसनीम न्यूज़ के पत्रकार ने सैनिक सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट दी कि जैशुल इस्लाम ने सीरियाई सेना को जो हथियार सौंपे हैं उनमें 75 टैंक हैं जिनमें कुछ टी-72 टैंक, टी-55 टैंक और ब्रीम-2 टैंक शामिल हैं। इसी तरह इन हथियारों में राकेट लांचर, एंटी एयरक्राफ़्ट मिसाइल आदि शामिल हैं।

सीरियाई सेना को क़लमून के पहाड़ी इलाक़े में अपने आप्रेशन के दौरान अमरीकी निर्मित ताव मिसाइलों का भी एक भंडार मिला है। इस इलाक़े से हुम्स और दैरुज़्ज़ूर को रास्ते जाते हैं, आतंकियों ने इन रास्तों का प्रयोग करके यह मिसाइल इस इलाक़े में एकत्रित कर लिए थे।

क़लमून के इलाक़े से 3200 आतंकी तथा उनके परिवार के लोग बाहर निकले और उत्तरी सीरिया के जराबलस इलाक़े की ओर चले गए।

इस इलाक़े में अहमद अलअब्दू, जैशे तहरीरुश्शाम और जैशुल इस्लाम गतिविधियां करते थे।

==========