सैल्यूट : सिपाही ”रमेश सिंह” ने पेश की इमानदारी की मिसाल!

सैल्यूट : सिपाही ”रमेश सिंह” ने पेश की इमानदारी की मिसाल!

Posted by

कानपुर।पुलिसकर्मियों के ऊपर आये दिन ग़लत- सही आरोप लगते रहते हैं, अनेक बार उनकी अमानवीय हरकतों से जनता का भरोसा टूटा है, लकिन हर वियक्ति एक जैसा नहीं होता, यूपी पुलिस के एक सिपाही ने ईमानदारी की गजब मिसाल पेश की है। अगर इस घटना के बारे में जान लेंगे तो वाकयी आप भी इस पुलिसवाले को सैल्यूट करेंगे। जिज्ञासा बढ़ गई ना..? हमे मालूम है। तो आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला…

कन्नौज के सौरिख थानाक्षेत्र में शनिवार सुबह करीब 10 बजे एक मार्ग दुर्घटना में चार लोग घायल हुए थे। यूपी 100 डायल के सिपाहियों ने सभी घायलों को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। इसके बाद तालग्राम के सिपाही को एक बैग मिला। उसने बैग खोलकर देखा तो उसमें जेवर, नगदी व अन्य सामान था। उसने थानाध्यक्ष की मौजूदगी में पूरे सामान की जांच कराकर महिला को बैग सौंप दिया।

कानपुर निवासी रोहित अपनी पत्नी के साथ आगरा से कानपुर लौट रहे थे। सौरिख थाना क्षेत्र में इनकी गाड़ी से दूसरी गाड़ी टकरा गई। जिससे दोनों ओर से चार लोग घायल हो गए। यूपी 100 डायल ने घायलों को मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। इधर, सूचना पाकर तालग्राम थाने के सिपाही रमेश सिंह व अनुज मौके पर पहुंच गए। रमेश सिंह को घटना स्थल से एक लावारिस बैग मिला। पता चला कि वह मेडिकल कालेज में प्राथमिक उपचार कराकर कानपुर निकल गए हैं।

सिपाही ने मेडिकल कालेज में लिखाए गए नंबर पर जानकारी दी। उन्हें तालग्राम थाने आकर बैग ले जाने के लिए कहा। इस पर घायल की बहन रेखा सिंहानिया शाम करीब चार बजे तालग्राम थाने अपने परिवार के साथ पहुंची। सिपाही ने थानाध्यक्ष तारिक खां की मौजूदगी सभी जेवर व नगदी सौंप दिया। परिजनों ने सिपाही की ईमानदारी की तारीफ की और थानाध्यक्ष ने सिपाही की प्रशंसा की। परिवार ने उसे कुछ रुपये देने की पेशकश भी लेकिन सिपाही ने कहा यह मेरी ड्यूटी है और यह कहते हुए उसने पैसे लेने से इनकार कर दिया।