स्थापना दिवस पर कांग्रेस मुख्यालय पर फहराया उल्टा झंडा

Posted by

Sagar_parvez
==============
देहरादून : कांग्रेस के 133वें स्थापना दिवस के अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने पार्टी का झंडा उलटा फहरा दिया। हालांकि जल्द ही इस गलती को सुधार लिया गया। इस मौके पर कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ताओं व कांग्रेसजनों ने वंदे मातरम और राष्ट्रगान गया।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कांग्रेसियों को संबोधित करते हुए कहा कि देश की आजादी में कांग्रेस की उल्लेखनीय भूमिका सर्वविदित रहे। कांग्रेस विश्व की सबसे पुरानी लोकतांत्रित पार्टी है। भारत के स्वर्णिम इतिहास के पन्नों में 28 दिसंबर 1885 का दिन भारत की जनता के दिलो दिमाग में अमिट स्मृति और आत्म विश्वास को जगाने वाला यादगार दिन है।

उन्होंने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कां ग्रेस की स्थापना कर रहे एओडब्ल्यू हृयूम, ऐनी बेसेंट, बाल गंगाधर तिलक, गोपाल कृष्ण गोखले, राना डे आदि नेताओं ने यह कल्पना नहीं की थी कि जिस संस्था का भारत की जनता के उत्पीडऩ के विरोध और मानवीय अधिकारों आदि के लिए गठन किया गया है, वह एक दिन देश के नवनिर्माण में अपनी अहम भूमिका निभाएगा।

प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का इतिहास बलिदान का रहा है। देश आजादी से लेकर आज तक पार्टी ने देश की एकता, अखंड़ता औ संप्रभुता के लिए अनेक बलिदान दिए हैं। कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने कांग्रेस के स्वर्णिम इतिहास और नीतियों को आगे बढ़ाने का काम किया है। कहा कि पार्टी ने कई उतार-चढ़ाव देखे, उन्होंने 1977 का उदाहरण देकर कहा कि जब भी कांग्रेस की स्थिति देश में बेहद कमजोर थी, लेकिन उसके बाद कांग्रेस पूरी शक्ति के साथ उभरी और तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश के विकास को एक नई गति दी।

अब राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस अपने लक्ष्य को पूरा करके रहेगी। इस मौके पर विधायक आदेश चौहान, पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी, हीरा सिंह बिष्ट, मातवर सिंह कंडारी, सरिता आर्या, राजकुमार, कुंवरसिंह नेगी, प्रदेश उपाध्यक्ष शंकर चंद रमोला, सूर्यकांत धस्माना, महामंत्री गोदावरी थापली, मुख्य प्रवक्ता मथुरा दत्त जोशी आदि मौजूद थे।

पार्टी का झंडा उल्टा फहराने से फजीहत

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में 133वें स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी का झंडा उल्टा फहरा दिया गया। उल्टे झंडे की तब जानकारी दी गई जब झंडे को ऊपर चढ़े करीब पांच-सात मिनट हो गए। इसके बाद प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के समक्ष ही झंडे को उतारा गया और दोबारा चढ़ाया गया। मौके पर मौजूद वरिष्ठ कांग्रेसियों ने कुछ सेवादल के कार्यकर्ताओं को फटकार भी लगाई। पूछे जाने पर प्रीतम सिंह ने खेद जताया।

उल्टा पार्टी झंडा फहराने पर हुआ विवाद

कांग्रेस पार्टी मुख्यालय में गुरुवार को पार्टी के 133वें स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी का झंडा उल्टा फेहराने को लेकर विवाद भी हुआ बात हाथापाई तक बढ़ गई। मौके पर कांग्रेस महानगर के एक युवा पदाधिकारी ने उल्टा झंडा फहराने पर नाराजगी जाहिर की और उनकी शिकायत तक की बात कर दी।

इस दौरान मौके पर मौजूद प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी के एक वरिष्ठ नेता ने तैश में आकर युवा कांग्रेसी को दो-तीन थप्पड़ जड़ दिए। हालांकि यह वारदात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के साथ लगते कमरे में हुई जिससे अन्य कांग्रेसियों को इसकी भनक नहीं लगी। मौके पर मौजूद आधा दर्जन कांग्रेसियों ने वरिष्ठ नेता को समाझा बुझाकर वहां से अलग किया। हालांकि बाद में युवा कांग्रेसी नेता व वरिष्ठ कांग्रेसी आपस में बात करते भी देखे गए।