हम अमरीकी प्रतिबंधों का डटकर मुक़ाबला करेंगे : विदेशमंत्री ईरान

Posted by

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने कहा कि ईरान के विरुद्ध अमरीकी प्रतिबंध, ईरानी राष्ट्र के संकल्प के और मज़बूत होने कारण बनेगा।

विदेशमंत्री ने कहा कि अमरीकी प्रतिबंध, ईरान को वार्ता पर मजबूर नहीं कर सकतीं बल्कि अमरीकी प्रतिबंधों से ईरान के प्रतिरोध में और मज़बूती पैदा होगी।

ईरान के विदेशमंत्री ने ईरान के विरुद्ध अमरीकी प्रतिबंधकों को एकपक्षीय और अत्याचारपूर्ण क़रार देते हुए कहा कि अमरीकी प्रतिबंधों से ईरान के प्रतिरोध में और भी मज़बूती पैदा हो जाएगी।

विदेशमंत्री ने ब्रिटिश विदेशमंत्री जेर्मी हन्ट से मुलाक़ात के बाद ब्रिटिश समाचार पत्र गार्डियन से बात करते हुए कहा कि अमरीका के दबाव का मुक़ाबला करना हमारी आदत बनी गयी है। उन्होंने कहा कि आर्थिक प्रतिबंधों से हमेशा जनता को नुक़सान पहुंचा है।

ईरान के विदेशमंत्री ने कहा कि हम अमरीकी प्रतिबंधों का अतीत की भांति डटकर मुक़ाबला करेंगे और हम आर्थिक क्षेत्रों में भी अमरीका को पराजय और विफलता से दोचार कर देंगे।

ईरान के विदेशमंत्री ने अमरीका के विदेशमंत्री माइक पोम्पियो के उस बयान पर कि अमरीकी प्रतिबंधों से दिनचर्या क प्रयोग की वस्तुओं पर प्रभाव नहीं पड़ा है, कहा कि प्रतिबंध चूंकि वित्तीय हैं इसलिए खाद्य पदार्थ और दवाएं इससे प्रभावित हुई हैं।

इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ और ब्रिटिश विदेशमंत्री जेर्मी हन्ट ने सोमवार को तेहरान में अपनी मुलाक़ात में द्विपक्षीय संबंधों और यूरोप के नये वित्तीय सिस्टम एसपीवी की स्थापना सहित विभिन्न क्षेत्रों में संबंधों के विस्तार के बारे में विचार विमर्श किया।

ब्रिटिश विदेशमंत्री ने ईरान के विदेशमंत्री से मुलाक़ात के बाद ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव अली शमख़ानी से भी मुलाक़ात की।

इस मुलाक़ात में ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव ने अमरीका द्वारा परमाणु समझौते के उल्लंघन पर यूरोप की कमज़ोर प्रतिक्रिया की कड़ी आलोचना करते हुए काह कि परमाणु समझौते का उल्लंघन, वाशिंग्टन द्वारा यूरोपीय संघ की साख और प्रतिष्ठा को नुक़सान पहुंचाए जाने के समान है।