हाई यूरिक एसिड का इलाज : 10 आसान घरेलू उपाय

Posted by

जान अब्दुल्लाह
=============

यूरिक एसिड कम करने के उपाय इन हिंदी: यूरिक एसिड बढ़ने पर ये जोडों में इकठ्ठा होने लगता है जिस वजह से जोड़ों में दर्द की शिकायत आने लगती है। पैरों की उंगलियों, एड़ियों और घुटनों में दर्द होने का एक कारण यूरिक एसिड की मात्रा का बढ़ना भी ही है। इस रोग को गाउट के नाम से भी जानते है। अगर सही समय पर यूरिक एसिड का उपचार और उपाय ना किया जाए तो इस रोग से प्रभावित व्यक्ति के उठने बैठने और चलने फिरने में परेशानी आने लगती है। इसका स्तर बढ़ने पर गठिया होने का ख़तरा बढ़ जाता है, इसलिए इस बीमारी को समय रहते ही कंट्रोल करना बहुत ज़रूरी है। कुछ आयुर्वेदिक दवा और देसी नुस्खे से हाई यूरिक एसिड का घरेलू इलाज कर सकते है और गाउट दर्द से छुटकारा पा सकते है, natural home remedies for high uric acid treatment in hindi.

45 साल से अधिक उम्र के लोगों में ये समस्या जादा होती है और अगर खाने पीने का ख़याल ना रखे तो ये रोग कम उम्र के लोगों को भी हो सकता है।

यूरिक एसिड क्यों बढ़ता है : Causes

शरीर में प्यूरिन के टूटने के कारण यूरिक एसिड बनता है जो किड्नी तक खून से पहुँचता है और मूत्र मार्ग से शरीर से बाहर निकल जाता है। किसी वजह से जब ये बाहर नहीं निकलता तब ये शरीर के अंदर इकठ्ठा होने लगता है और एक क्रिस्टल की तरह बन जाता है और जब यूरिक एसिड का स्तर अधिक हो जाता है तब ये परेशानी करने लगता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण : Symptoms

इस रोग के बारे में ज्यादातर लोगों को जादा कुछ पता नहीं होता। अक्सर हम शुरुआती लक्षण देख कर बीमारी का आइडिया लगा लेते है। इसलिए इस बीमारी को पहचानने के लिए इसके लक्षणों की जानकारी होना जरुरी है।

पैरों के अंगूठे में सूजन पड़ना
जोडों में दर्द और सूजन होना
उठते बैठते वक़्त घुटने में दर्द
जोड़ों में गाँठ की शिकायत होना

यूरिक एसिड कम करने के उपाय और घरेलू इलाज

Home Remedies for High Uric Acid in Hindi

1. दो से तीन अखरोट रोजाना खाली पेट खाने से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कम होने लगता है।

2. एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर एक गिलास हल्के गरम दूध के साथ पिए। गर्मियो में अश्वगंधा कम मात्रा में ले।

3. एक चम्मच अलसी के बीज भोजन के आधा घंटे बाद चबा कर खाने से भी आराम मिलता है।

4. हाई यूरिक एसिड होने पर ये शरीर में क्रिस्टल जैसा बन जाता है और शरीर में दूसरे अंगों में जमा होने लगता है। चम्मच बेकिंग सोडा एक गिलास पानी में मिलाकर पिए इससे क्रिस्टल टूट कर शरीर में घुल जाते है और पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाते है।

5. आंवले का रस एलोवेरा जूस में मिलाकर पीने से भी फायदा मिलता है।

6. यूरिक एसिड बढ़ जाने पर अगर गठिया हो गया है तो बथुए के पत्तों का जूस निकाल कर सुबह खाली पेट पिए और इसके दो घंटे बाद तक कुछ ना खाए पिए।

7. नारियल पानी से भी हाई यूरिक एसिड को घटाने में मदद मिलती है।

8. अजवाइन एक प्रकार से यूरिक एसिड की आयुर्वेदिक दवा है, इसके सेवन से शरीर में यूरिक एसिड कंट्रोल होता है। भोजन पकाते वक़्त अजवाइन का इस्तेमाल करे।

9. चकुंदर, सेब और गाजर का जूस रोजाना पिए, इससे यूरिक एसिड कम होता है और शरीर में पीएच् का स्तर बढ़ता है।

10. एक ग्लास पानी में सेब का सिरका (एप्पल साइडर विगेनर) दो से तीन चम्मच मिलाकर दिन में दो से तीन बार पिए।

गाउट के दर्द का इलॉज

गाउट का दर्द और यूरिक एसिड का ट्रीटमेंट में कच्चा पपीता रामबाण दवा है। एक कच्चा पपीता ले और इसे काट कर इसके छोटे छोटे टुकड़े करके बीज निकल दे। दो लिटर पानी में पपीते के टुकड़ो को पांच मिनट के लिए उबाले, पानी में ग्रीन टी की एक से दो चम्मच पत्तियां भी डाले। अब पानी ठंडा होने के बाद छान ले और दिन में दो से तीन बार चाय के जैसे पिए।

जाने हाथों और पैरों में दर्द का उपचार कैसे करे

यूरिक एसिड कम करने के तरीके

1. वजन कम करे

अगर आपके शरीर में मोटापे के कारण चर्बी अधिक है तो प्यूरिन टूटने की संभावना भी बढ़ जाती है जिस वजह से यूरिक एसिड के बढ़ने का ख़तरा बढ़ जाता है। यूरिक एसिड को कंट्रोल में रखने के लिए वजन को नियंत्रण में रखना जरुरी है। वेट घटाने के लिए एक दम से डाइट ना करे, धीरे धीरे कोशिश करे।

2. पानी जादा पिए

यूरिक एसिड शरीर से मूत्र मार्ग से बाहर निकलता है इसलिए शरीर में पानी पर्याप्त मात्रा होना जरुरी है। इसके साथ साथ पानी शरीर में ऊर्जा का स्तर भी बनाये रखता है जिससे शरीर में चुस्ती आती है

हाई यूरिक एसिड में क्या खाये और नहीं खाना चाहिए

प्यूरिन की वजह यूरिक एसिड हाई होता है इसलिए खाने पीने ऐसी चीजों के सेवन से दूर रहे जिनसे प्यूरिन बनता है, जैसे रेड मीट, ऑर्गन मीट, फिश और सी फुड।

दूध कम फट वाला ही पिए।
जैतून के तेल में खाना बनाये।
डिब्बा बंद खाना खाने से बचे।
विटामिन सी युक्त चीजों का सेवन करे।
बियर और शराब के सेवन से परहेज करे।
जिन चीजों में फाइबर अधिक हो ऐसी चीज खाये।
ओमेगा – 3 फैटी एसिड का यूरिक एसिड में परहेज करे।
नींबू पानी शरीर को साफ़ करता है और क्रिस्टल्स घोलता है।
पेस्ट्री, केक और पैनकेक जैसे बेकरी उत्पादों के सेवन से बचे।
जामुन, चेरी और स्ट्रॉबेरी जैसे फल गठिया का इलाज करने और यूरिक एसिड को बाहर निकालने में मदद करते है।

( आर्किटल नेट से लिया गया है फिर भी कोई त्रुटि हो तो या शंका हो तो इस मामले के जानकार से सलाह करले)
——