हाजी अलीम की कनपटी मे गोली लगने से हुई थी मौत : रिपोर्ट

Posted by

डॉ मौ अदनान
============

क्यों मारी, इसकी जांच की जा रही है। पहले अचानक तबीयत बिगडऩे की वजह से परिजनों ने पूर्व विधायक की मौत होना बताया था। वहीं, एसएसपी ने मौके पर पहुंचकर घटना स्थल का जायजा लिया। परिजनों से कई राउंड की पूछताछ की। फारेंसिक टीम ने भी नमूने लिए हैं। पूर्व विधायक के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है। घटना स्थल पर एसएसपी केबी सिंह के साथ एसपी क्राइम और एसपी सिटी भी मौजूद रहे।

हाजी अलीम  राजनीति की समझ रखने वाले नेता तो थे ही कुशल उद्यमी भी थे। खासतौर पर मुस्लिम और दलितों पर उनकी मजबूत पकड़ थी। उनकी मौत की खबर से वैसे तो हर शख्स रंज में है, लेकिन सबसे अधिक धक्का गरीब तबके को लगा है। वे वर्ष-२००७ से वर्ष-2012 और वर्ष-2012 से वर्ष -2017 तक सदर सीट पर बसपा के टिकट पर चुनाव जीते और विधायक बने। हालांकि वर्ष 2017 के चुनाव में वे अपनी कुर्सी नहीं बचा पाए। अंतिम चुनाव में भी हाजी अलीम को 90 हजार से अधिक मत मिले थे। बसपा में उनकी मजबूत पकड़ थी। वेस्ट यूपी में हाजी अलीम का नाम गरीबों के हमदर्द के रूप जाना जाता था। वे धार्मिक आयोजनों में भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते थे। वे शानदार शख्सियत से इसीलिए हर एक चुनाव में वैश्य समाज के लोग उनको सम्मानित भी किया करते थे।

हाजी अलीम के अंतिम दर्शन करने के लिए हर वर्ग के लोग जुटे हुए हैं। भीड़ इतनी है कि लोगों को अंतिम दर्शन करने में इंतजार करना पड़ रहा है। भीड़ को देखते हुए पुलिस प्रशासन भी हरकत में आ गया है। पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। अंतिम दर्शन के लिए हजारों की भीड़ उनके आवास पर डटी हुई है।

पुलिस तहकीकात न्यूज