BREKING NEWS : पाकिस्तान में क़तर से तीन गुना गैस और पेट्रोल पदार्थ मिले, पाक मीडिया ने की पुष्टि : रिपोर्ट

BREKING NEWS : पाकिस्तान में क़तर से तीन गुना गैस और पेट्रोल पदार्थ मिले, पाक मीडिया ने की पुष्टि : रिपोर्ट

Posted by

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने बताया था कि उनके देश में तेल के विशाल भण्डारों का पता चला है।इमरान ख़ान ने कहा था कि कराची के निकट समुद्र में तेल और गैस के विशाल भण्डारों का पता चला है। उन्होंने कहा था कि तेल और गैस के खोजी अभियान के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं।

इमरान ख़ान का कहना था कि कराची के निकट समुद्र में मिलने वाले तेल और गैस के भण्डार इतने अधिक है कि इनके मिलने के बाद पाकिस्तान को अपनी आवश्यकता के लिए तेल और गैस का आयात नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अल्लाह ने चाहा तो हमें तेल और गैस के विशाल भण्डार मिलेंगे। इमरान ख़ान ने कहा था कि इनके मिलने से पाकिस्तान का भाग्य बदल जाएगा।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने जो उम्मीद अपने देश की जनता को जगाई थी शायद अब उसके पूरा होने का वक़्त आ गया है, वैसे भी ये महिना रमज़ान का है इसमें अल्लाह की ख़ास मदद हासिल होती है, पाकिस्तान के खैबर इलाके में बड़े गैस और पेट्रोलियम भण्डार होने पर वहां कई माह से ड्रिलिंग का काम चल रहा था, जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के इस इलाके में क़तर से तीन गुना गैस और पेट्रोल पदार्थ मिलने की सम्भावना है

बता दें कि पाकिस्तान की मौजूदा हुकूमत के सामने इस समय देश की अर्थव्यवथा सबसे बड़ी चुनौती है, पाकिस्तान अपने इतिहास के सबसे बुरे और बड़े आर्थिक बोहरान का सामना कर रहा है

पाकिस्तान मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक वहां बड़े गैस और पेट्रोलियम भण्डार होने की पुष्टि हो चुकी है, अब तक की खुदाई के बाद ये नतीजा सामने आया है

ये भी देखें
अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष आईएमएफ़ ने पाकिस्तान में आर्थिक सुधार पर ज़ोर देते हुए कहा है कि मिड टर्म में पाकिस्तान की आर्थिक विकास दर 2024 तक 2 दशमलव 5 प्रतिशत से अधिक नहीं बढ़ेगी।

आईएमएफ़ का कहना है ऊर्जा की क़ीमतों, माइक्रो इकानामिक चुनौतियों और धीमी पड़ती वैश्विक आर्थिक विकास दर के प्रभावों के कारण पाकिस्तान की भी आर्थिक विकास दर कम ही रहेगी।

डान अख़बार के अनुसार पाकिस्तान का करंट एकाउंट घाटा जारी वर्ष के दौरान जीडीपी का लगभग 5 दशमलव 2 प्रतिशत तक पहुंच जाएगा जो अगले साल कम होकर 4 दशमलव 3 प्रतिशत तक आ जाएगा मगर 2024 तक यह बजट घाटा फिर बढ़कर 5 दशमलव 4 तक पहुंच जाएगा।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर आईएमएफ़ के तीन वर्षीय बेल आउट पैकेज पर अंतिम बातचीत के लिए वाशिंग्टन के दौरे पर गए हैं। आईएमएफ़ का कहना है कि यदि पाकिस्तान के लिए बेल आउट पैकेज मंज़ूर न किया गया तो इस देश की आर्थिक विकास दर भी भी गिरेगी।