‘किसी को एक ट्वीट के लिए 11 दिन तक जेल में नहीं रखे सकते’ : तानाशाही पर कोर्ट का डंडा

‘किसी को एक ट्वीट के लिए 11 दिन तक जेल में नहीं रखे सकते’ : तानाशाही पर कोर्ट का डंडा

Posted by

Sagar PaRvez
·
तानाशाही पर कोर्ट का डंडा सुप्रीम कोर्ट ने कहा… ‘किसी को एक ट्वीट के लिए 11 दिन तक जेल में नहीं रखे सकते’

**कोर्ट ने कहा कि मजिस्ट्रेट का ऑर्डर सही नहीं है-आदित्यनाथ सरकार को लगाई फटकार, पूछा- गिरफ्तारी क्यों?

पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसी को एक ट्वीट के लिए 11 दिन तक जेल में नहीं रखे सकते हैं। कोर्ट ने आदित्यनाथ सरकार से कहा कि यह कोई हत्या का मामला नहीं है।

कोर्ट ने कहा कि मजिस्ट्रेट का ऑर्डर सही नहीं है।

उसे तुरंत रिहा किया जाना चाहिए।

गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट ने आदित्यनाथ सरकार को लगाई फटकार, पूछा- गिरफ्तारी क्यों?
जंगलराज यूपी के मुख्य मंत्री आदित्यनाथ पर सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखने के आरोपी पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने आदित्यनाथ सरकार को फटकार लगाई है। साथ ही कोर्ट की तरफ से प्रशांत कनौजिया को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया है।

कोर्ट ने इस गिरफ्तारी को लेकर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि एक नागरिक के अधिकारों का हनन नहीं किया जा सकता है, उसे बचाए रखना जरूरी है।

कोर्ट ने आगे कहा है कि आपत्तिजनक पोस्ट पर विचार अलग-अलग हो सकते हैं लेकिन गिरफ्तारी क्यों?

कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा है कि किन धाराओं के तहत ये गिरफ्तारी की गई है। ऐसा शेयर करना सही नहीं था लेकिन फिर भी गिरफ्तारी क्यों हुई।