#EVMSarkar बर्खास्त होनी चाहिए : कितनी घिनौनी मानसिकता है

#EVMSarkar बर्खास्त होनी चाहिए : कितनी घिनौनी मानसिकता है

Posted by

Suryaansh Mulnivasi

यह डी.के. सिंह हैं, संघ के स्वयंसेवक हैं, धर्म-संस्कृति के पक्के ठेकेदार हैं, सभी को संस्कृति का पाठ भी पढ़ाते हैं, महिला दिवस की बधाई भी देते हैं, भाजपाई मंत्रियों से उठना बैठना भी है, परम गो भक्त हैं, पेशे से वकील हैं।

मगर रुह काँप जाती है, पढ़कर कि एक मासूम बच्ची जो गर्मी की छुट्टी बिताने अपने ननिहाल आती है, उसका मामा यानी यह वकील डी.के. सिंह शाम होते ही उसका शरीर नोंचना शुरू करता है। सूरज के डूबने के साथ उस मासूम का खौफ किस कदर तकलीफ देता रहा होगा जैसे उसने तीन रातें झेंलीं, किसी तरह उसने घर फोन किया कि हमे यहां से ले चलो। घर पहुँचकर उसने माँ को आपबीती बतायी। परिवार ने इस दैत्य के खिलाफ एफआईआर करवायी। पुलिस ने गिरफ्तार किया।

अलीगढ़ की घटना पर जमीन/आसमान एक कर देने वाले भक्त/गोदी मीडिया सब चुप हैं। अब न ही धर्म खतरें में है, न संस्कृति। ऐसे हैवानों के खिलाफ कोई नारा भी नहीं सुनाई पड़ रहा।

Serina Khan

बस सेकेंड भर का फ़ासिला, मौत और ज़िंदगी के बीच

ज़रा सी चूक, मौत के पंजों में दम तोड़ देगी ज़िंदगी

#__Serina_khan… ✍️

B. Austin

“झील” मेरी नवीनतम पेंटिंग है जो आपके देखने के आनंद के लिए यहाँ अनावरण किया गया है । मेरे कला के काम का आनंद लें । आपकी लगातार पसंद, शेयर और टिप्पणियों की बहुत सराहना की जाती है ।

पंखुरी पाठक

मारी गयी नन्ही #ट्विंकल_शर्मा ‘हिंदू नहीं थी ।
जेल में डाले गए #प्रशांत_कनोजिया और उनकी पत्नी ‘हिंदू’ नहीं हैं।
पत्रकार #अमित_शर्मा जिसको मारा गया व मुँह में पेशाब की गयी वह ‘हिंदू’ नहीं है ।
अधिवक्ता #दरवेश_यादव जिनकी गोली मार कर हत्या कर दी गयी वह ‘हिंदू’ नहीं हैं ।

क्यूँकि अगर यह सब ‘हिंदू’ होते तो #बंगाल की तरह भक्तों के लिए #उत्तर_प्रदेश में भी ‘हिंदू ख़तरे में’ होते और ममता बैनर्जी की तरह योगी आदित्यनाथ के इस्तीफ़े की भी माँग हो रही होती ।

निष्कर्ष यह है कि भाजपा शासित राज्यों में ‘हिंदुओं’ के साथ बलात्कार , शोषण , अत्याचार और हत्या करने पर कोई पाबंदी या बुराई नहीं है ।

 

Bahujan Bharat

@dalitsamajindia
वो तुम्हारीं “शिक्षा” पर चोट कर रहे हैं ,

तुम उनकी “भिक्षा” पर चोट करो और दान – दक्षिणा देना पूरी तरह से बंद करो I

Surendra Rajput

@ssrajputINC
अनंतनाग में शहीद हुए 5 सीआरपीएफ जवानों में से दो सतेंद्र और महेश उत्तर प्रदेश से हैं। देश के इन सभी वीर सपूतों को श्रद्धांजलि।

हर बार जवानों की शहादत की खबरें विचलित कर जाती हैं।

Bahujan4India

@Bahujan4India
Chandrappa: पुजारी ने गांव के सांथीयो के साथ मिलकर दलित को नंगा करके पूरे गाँव मे घुमाया, मूर्ति से छेड़खानी& चोरी का आरोप, मानसिक रूप से बीमार था, इस तरह से दलितों के ऊपर जुल्म करने का हक़ किसने दिया, हमारे देश के लोग कब समझेंगे की देश संविधान से चलता है न की अलोकतांत्रिक ढंग से

The Dalit Voice

@ambedkariteIND

पता नही कैसी मानसिकता की है यह औरत कह रही है कठूआ मे बच्ची का बलात्कार हुआ ही नही है वह इसे राजनीतिक साजिश बता रही है हिन्दू मुसलमान मे तब्दील कर रही है

कितनी घिनौनी मानसिकता वाली औरत को तुमने संसद पहुंचाया है भोपाल वालो तुम्हे देश माफ नही करेगा ।

Dr. AVTAR SINGH

@DrAVTARSINGH8
2019 लोकसभा चुनाव #SupremeCourt में चैलेंज किये जाने चाहिएं। #EVMSarkar बर्खास्त होनी चाहिए। यह सरकार लोगों दुआरा नहीं चुनी गई। यह सरासर लोकतंत्र का कत्ल है। @UN को भी इस में दखल देना चाहिए। #BanEVM #बैलटलाओ_लोकतंत्रबचाओ @ncbn @MamataOfficial @nitinmeshram_ @advosiddhu @mpchalia

kiran patnaik

@kiran_patniak

शरद पवार बोले, ‘गड़बड़ी ईवीएम-वीवीपैट में नहीं, बल्कि मतगणना में’!!

“लोगों के सामने जो ईवीएम और वीवीपैट रखी जाती है, उसमें कोई गड़बड़ी नहीं है! गड़बड़ी उस मशीन में होती है जिससे मतगणना की जाती है!!”
#बैलटलाओ_लोकतंत्रबचाओ
#BanEVM
#BanDigitalElections

शरद पवार बोले, ‘गड़बड़ी ईवीएम-वीवीपैट में नहीं, बल्कि मतगणना में’

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद एनसीपी नेता शरद पवार ने कहा कि लोगों के सामने जो ईवीएम और वीवीपैट रखी जाती है, उसमें कोई गड़बड़ी नहीं है। असल में जिससे मतगणना की जाती है, वह मशीन ही दूसरी होती है। उन्होंने कहा कि आज भले ही लोग चुप हैं, लेकिन भविष्य में हिंसा पर उतर सकते हैं।

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:Jun 10, 2019

मुंबई
लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद एनसीपी नेता शरद पवार ने एक बार फिर हार का ठीकरा ईवीएम और चुनाव आयोग पर फोड़ा है। उन्होंने कहा कि लोगों के सामने जो ईवीएम और वीवीपैट रखी जाती है, उसमें कोई गड़बड़ी नहीं है। गड़बड़ी उस मशीन में होती है जिससे मतगणना की जाती है।

‘…तो लोग कानून हाथ में ले लेंगे’
पवार ने आगे कहा, ‘अगर लोगों को पता चलता है कि वे जो वोट डाल रहे हैं वह उनकी पसंद के उम्मीदवार को नहीं गया है, तो भले ही वे लोग इस समय शांत हैं। मगर ये लोग भविष्य में कानून हाथ में ले सकते हैं। हमें ऐसा नहीं होने देना चाहिए।’

अजित पवार ने कहा, मुझे ईवीएम पर कोई संदेह नहीं
बता दें कि इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार ईवीएम पर अलग राय जाहिर कर चुके हैं। अजित पवार ने बीते महीने मतगणना से पहले था कि मुझे ईवीएम मशीन के कामकाज को लेकर कोई संदेह नहीं है। अजित पवार ने बीजेपी का नाम लिए बगैर कहा कि अगर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में छेड़छाड़ की जा सकती तो वे पांच राज्यों में चुनाव नहीं हारते।

Khadim Hussain

@Khadimhussain4
Extremely painful that forests are burnt in various parts of Pakhtunkwha…Buner, Swabi to Waziristan. Embezzlement in billion tree tsunami could have been covered through some other means but turning lungs of nature to ashes is completely barbaric. #StopBurningForests

Disclaimer : लेख/पोस्ट/समाचार/pics/सोशल मीडिया/ ट्विटर/facebook में वॉयरल हैं, लेखक/लेखकों/लेखिकाओं के निजी विचार हैं, तीसरी जंग हिंदी का कोई सरोकार नहीं है, न ही तीसरी जंग हिंदी समाचारों की पुष्टि करता है, किसी भी वाद विवाद का परिछेत्र अलीगढ न्यायलय होगा