शंघाई सम्मेलन में परमाणु समझौते की रक्षा पर पुतीन का बल

शंघाई सम्मेलन में परमाणु समझौते की रक्षा पर पुतीन का बल

Posted by

रूस के राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने परमाणु समझौते की रक्षा और इसको जारी करने के महत्व और इसकी आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि परमाणु समझौते के सभी सदस्य देश, इस अंतर्राष्ट्रीय समझौते की परिधि में अपने वचनों के प्रति कटिबद्ध हैं।

इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार रूस के राष्ट्रपति विलादीमीर पुतीन ने क़िरक़िज़िस्तान की राजधानी बेश्किक में शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में एक बार फिर संयुक्त समग्र कार्य योजना जेसीपीओए से अमरीका के निकलने के दुष्परिणामों की ओर से सचेत किया।

राष्ट्रपति पुतीन ने कहा कि परमाणु समझौते से अमरीका के निकलने से न केवल यह कि क्षेत्र की स्थिति अस्थिर हुई है बल्कि परमाणु अप्रसार व्यवस्था भी बाधित हुई है।

शंघाई सहयोग संगठन के वर्तमान अध्यक्ष के रूप में रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि वह प्रयास करेंगे कि अंतर्राष्ट्रीय समझौते की परिधि में परमाणु समझौते के सभी सदस्य देशों को उनके वचनों पर अमल कराने का प्रयास करेंगे और इसी मार्ग को वह तार्किक और सही तरीक़ा समझते हैं।

राष्ट्रपति पुतीन ने कहा कि सीरिया में आतंकवाद से संघर्ष के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं और रूस द्वारा आतंकवाद से संघर्ष में दमिश्क़ की क़ानूनी सरकार की मदद के बाद सीरिया में आतंकवादी और कट्टरपंथी गुट पराजित हो गये।

उन्होंने शंघाई शिखर सम्मेलन के समस्त सदस्य देशों से मांग की है कि वे सीरिया में रासायनिक और जैविक हथियारों तक आतंकवादियों की पहुंच को रोकने के लिए अपने प्रयास करें।