19 नवम्बर का इतिहास : 19 नवंबर 1917 को इंदिरा गांधी का जन्म हुआ, विख्यात विद्वान शैख़ आग़ा बुज़ुर्ग तेहरानी का जन्म हुआ

Posted by

भारत और विश्व की प्रमुख घटनाएं

1977 – मिस्र के राष्ट्रपति अनवर सादात की ऐतिहासिक इजरायल यात्रा।

1994 – भारत की ऐश्वर्या राय मिस वर्ल्ड चुनी गईं।

1998 – भारत समेत विश्व के कई देशों में लाखों लोग आकाश को देखते हुए निराश हुए, केवल जापान एवं थाईलैंड से निवासी ही दिवाली (उल्का पिंडों का पृथ्वी के वातावरण से टकराकर जलने का नज़ारा) मना सके, कैंब्रिज स्थित इंटरनेशनल बायोग्राफ़िकल सेंटर ने भरनाट्यम की प्रख्यात नृत्यांगना कोमला वर्धन को वर्ष 1998 का ‘वूमेन आफ़ दी इयर’ पुरस्कार के लिए चुना।

2000 – पाकिस्तान की एक अदालत द्वारा पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की मां नुसरल भुट्टो को 2 वर्ष के कठिन कारावास की सज़ा।

2002 – आस्कर पुरस्कार से सम्मानित अभिनेता जेक्स कोबर्न का लास एंजिल्स में निधन।

2005 – पाकिस्तान के राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ़ ने भारत को भूकम्प पीड़ितों के हित में कश्मीर समस्या सुलझाने का सुझाव दिया।

2006 – भारत ने परमाणु ऊर्जा और यूरेनियम सप्लाई के लिए आस्ट्रेलिया का समर्थन मांगा।

2007 – अफ़ग़ानिस्तान के दक्षिण पश्चिम प्रान्त निमरोज में हुए आत्मघाती हमले में गवर्नर के बेटे समेत सात लोग मारे गए।

2008 – संयुक्त राष्ट्र की अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के प्रमुख मो. अलबरदेई को वर्ष 2008 के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय अवार्ड देने की घोषणा की गई।

19 नवंबर को जन्मे व्यक्ति

1835 – रानी लक्ष्मीबाई – 1857 के प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगना रानी।

1838 – केशव चन्द्र सेन – एक प्रसिद्ध धार्मिक व सामाजिक सुधारक, जो ‘ब्रह्म समाज’ के संस्थापकों में से एक थे।

1917 – इन्दिरा गांधी, भारत की चौथी प्रधानमंत्री।

1923 – सलिल चौधरी – हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध भारतीय संगीतकार।

1928 – दारा सिंह, विश्व प्रसिद्ध पहलवान और हिन्दी फ़िल्मों के अभिनेता।

1951 – ज़ीनत अमान, हिन्दी फ़िल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री।

1975 -सुष्मिता सेन- भारत की प्रथम मिस यूनिवर्स और प्रसिद्ध अभिनेत्री

19 नवंबर को हुए निधन

1980 – वाचस्पति पाठक – प्रसिद्ध उपन्यासकार।

2008 – रमेश भाई, समाज सुधारक एवं सर्वोदय आश्रम टडियांवा के संस्थापक

=========

19 नवंबर वर्ष 1828 ईसवी को आस्ट्रिया के प्रसिद्ध संगीतकार फ़ैंज़ शूबर्ट का निधन हुआ। उनका जन्म 1779 ईसवी में एक निर्धन परिवार में हुआ था। उन्हें बचपन से ही संगीत से लगाव था और उन्होंने इसी कला में शिक्षा प्राप्त की। इस कलाकार ने युवाकाल से ही संगीत कम्पोज़िन्ग शुरु की और 600 से अधिक गीतों के लिए संगित कम्पोज़ किए किन्तु उनकी कला और संगीत उन्हें निर्धनता से मुक्ति न दिला पाया क्योंकि लोगों ने उनके जीते जी उनके गीतों और संगीत का स्वागत नहीं किया किन्तु उनके मरने के बाद लोगों को उनकी महानता का पता चला।

==========

 

19 नवंबर 1917 को इंदिरा गांधी का जन्म हुआ। वे भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं और उनका पूरा नाम इंदिरा प्रियदर्शिनी गाँधी था। वे वर्ष 1966 से 1977 तक लगातार 3 बार भारत की प्रधानमंत्री रहीं और उसके बाद चौथे चरण में 1980 से लेकर 1984 में अपनी हत्या तक तक भारत की प्रधानमंत्री रहीं। 1934–35 में अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के पश्चात, इन्दिरा गांधी ने शांति निकेतन में रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा निर्मित विश्व भारती विश्वविद्यालय में प्रवेश लिया। रवीन्द्रनाथ टैगोर ने ही उन्हें प्रियदर्शिनी नाम दिया था। अपने पिता की मृत्यु के बाद सन् 1964 में उनकी नियुक्ति एक राज्यसभा सदस्य के रूप में हुई। इसके बाद लालबहादुर शास्त्री के मंत्रिमंडल में सूचना और प्रसारण मत्री बनीं। लालबहादुर शास्त्री के आकस्मिक निधन के बाद तत्कालीन कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष के. कामराज न इंदिरा गांधी को प्रधानमंत्री बनाने में भूमिका निभाई। वर्ष 1975 में उन्होंने आपातकाल लागू कर दिया जिसके कारण उनकी बहुत अधिक आलोचना हुई और वर्ष 1977 में उन्होंने एवं कॉंग्रेस पार्टी ने आम चुनाव में पहली बार हार का सामना किया। 31 अक्तूबर वर्ष 1984 में उनके अंगरक्षकों ने उनकी हत्या कर दी।

==========

 

19 नवम्बर सन 1977 ईसवी को मिस्र के तत्कालीन राष्ट्रपति अनवर सादात अवैध अधिकृत बैतुल मुक़द्दस के लिए रवाना हुए। किसी अरब देश के राष्ट्राध्यक्ष की अतिग्रहित फिलिस्तीन की यह पहली यात्रा थी। इस यात्रा का उद्देश्य मिस्र को ज़ायोनी शासन के निकट लाना और इस अवैध शासन के साथ एक तथाकथित शांति समझौते पर हस्ताक्षर करना था। यही कारण था कि इस्लामी देशों विशेषकर फिलिस्तीनी जनमत ने इस पर आक्रोष व्यक्त किया। इसके बावजूद सादात ने सन 1978 ईसवी में अमरीका की मध्यस्थता से जायोनी शासन के साथ कैम्प डेविड नामक समझौते पर हस्ताक्षर किए। बहुत से अरब देशों ने इससे अप्रस्न्न होकर मिस्र के साथ अपने संबंध तोड़ लिए तथा सादात की इस कार्रवाई को अरबों और मिस्र की जनता के साथ विश्वासघात समझा गया जिसके बाद मिस्र में अशांति फैल गयी इसके अगले ही वर्ष 1981 में औपचारिक सैनिक परेड के दौरान खालिद इस्लामबूली नामक सैनिक अधिकारी ने सादात की गोली मार कर हत्या कर दी।

==========

19 नवम्बर सन 1990 ईसवी को नैटो और वार्सा संधि के सदस्य देशों के नेताओं ने पेरिस में एक समझौते पर हस्ताक्षर करके पूर्वी और पश्चिमी ब्लॉकों के बीच शीत युद्ध का अंत कर दिया। इन नेताओं ने इसी प्रकार इन दोनों संगठनों के हथियारों को कम करने तथा प्रचारिक युद्ध को रोकने पर सहमति जताई। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद अमरीका और रूस के दो बड़ी परमाणु शक्तियों के रुप में उभरने के बाद शीत युद्ध आरंभ हुआ था। रुस और अमरीका को परमाणु युद्ध को रोकने के उद्देश्य से एक समझौता करने पर विवश होना पड़ा। इसके बावजूद पूर्वी और पश्चिमी ब्लॉकों में राजनैतिक, अर्थिक, प्रचारिक और जासूसी मंच पर युद्ध जारी रहा। इसी को शीत युद्ध कहा जाता है। 1980 के दशक में पूर्व सोवियत संघ और पूर्वी योरोपीय देशों में होने वाले परिवर्तनों से शीत युद्ध के समापन की भुमिका समतल हुई और अंतत: पूर्वी ब्लॉक के देशों में रुस का प्रभाव कम हो गया और सोवियत संघ टूट गया तथा शीत युद्ध समाप्त हो गया। इसके कुछ समय बाद वारसा संधि भी समाप्त हो गयी।

==========

28 आबान सन 1368 हिजरी शम्सी को ईरान के हमदान नगर के निकट 5 हज़ार वर्ष प्राचीन जातियों के कुछ चिन्ह मिले जिसके बाद पुरातन विशेषज्ञों के व्यापक प्रयास से बहुत से अवशेष निकाले। यह अवशेष पत्थरों के रूप में हैं जिनपर खुदाई करके चित्र बनाए गये है। विशेषज्ञों के विचार में इन अवशेषों का संबध लगभग 3 हज़ार वर्ष ईसा पूर्व से है। हमदान के ऐतिहाहिक नगर का प्राचीन नाम इकबातान है। यह नगर ईसा पूर्व के काल में कुछ समय तक ईरान की राजधानी था।

==========

11 रबीउल औवल सन 1293 हिजरी क़मरी को ईरान की राजधानी तेहरान में विख्यात विद्वान शैख़ आग़ा बुज़ुर्ग तेहरानी का जन्म हुआ। तेहरान में आरंभिक शिक्षा प्राप्ति के बाद वे उच्च स्तरीय शिक्षा के लिए इराक़ के नजफ़ नगर पहुंचे और वहॉं वरिष्ठ धर्मगुरुओं से शिक्षा प्राप्त की उन्होंने इराक़ ईरान मिस्र सीरिया सऊदी अरब फ़िलिस्तीन और दूसरे कई देशों के पुस्तकालयों में जाकर गहन अध्ययन किया और पुस्तकों के बारे में जानकारी की इंसाइक्लोपीडिया की रचना की। इसका नाम अज़्ज़रीआ एला तसानीफिश्शीया है यह पुस्तक 26 प्रतियों पर आधारित है। सन 1389 हिजरी क़मरी में उनका निधन हुआ।