बड़ी ख़बर : PAK खुफ़िया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने वाले 11 हिन्दू आतंकवादी गिरफ़्तार!

बड़ी ख़बर : PAK खुफ़िया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने वाले 11 हिन्दू आतंकवादी गिरफ़्तार!

Posted by

मध्य प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (ATS) ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने के शक में 11 भगवा आतंकवादी को गिरफ्तार किया है। इन पर कॉल सेंटर की आड़ में सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को भेजने का आरोप है। एटीएस चीफ संजीव शमी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जासूसी रैकेट के बारे में खुलासा किया। एटीएस चीफ ने बताया कि अब तक ग्वालियर से 5, भोपाल से 3, जबलपुर से 2 और सतना से एक भगवा आतंकवादी की गिरफ्तारी की गई है।

उन्होंने बताया कि इस पूरे रैकेट में निजी मोबाइल कंप नियों के कर्मचारियों की मिलीभगत के संकेत भी मिले हैं। भगवा आतंकवादी कॉल सेंटर का संचालन करते थे। इसके जरिए नौकरी और लॉटरी की आड़ में सूचनाओं का लेन-देन किया जा रहा था। पिछले साल जम्मू-कश्मीर में सुखविंदर और दादू नाम के 2 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी।

इन दोनों से हुई पूछताछ में खुलासा हुआ था कि देशद्रोही गतिविधियों में मध्य प्रदेश से मदद मुहैया कराई जा रही थी। इस इनपुट के आधार पर एटीएस ने अपना जाल बिछाते हुए अब तक 11 भगवा आतंकवादी को धरदबोचा है। एटीएस ने इस सिलसिले में एमपी के 4 शहरों ग्वालियर, सतना, भोपाल और जबलपुर से 11 लोगों को गिरफ्तार किया है।

एमपी एटीएस चीफ संजीव शमी ने बताया कि ग्वालियर, भोपाल और जबलपुर में इन लोगों ने टेलीफोन एक्सचेंज का इस्तेमाल किया। इनमें से छह आरोपियों को दोपहर बाद कोर्ट में पेश किया गया। इन्हें रिमांड पर सौंप दिया गया।

शमी ने बताया, “ग्वालियर से 5, भोपाल से 3, जबलपुर से 3 और सतना से 1 शख्स को अरेस्ट किया गया है।” “ये लोग इंटरनेट कॉल को सेल्युलर कॉल में ट्रांसफर कर देते थे। इससे पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स की आइडेंटिफिकेशन नहीं हो सकती थी।” “आरोपियों द्वारा इस्तेमाल किए गए टेलीफोन एक्सचेंज ग्वालियर, भोपाल और जबलपुर में मिले हैं।

ये लोग पैरेलल टेलीफोन एक्सचेंज चलाते थे। एटीएस ने मोबाइल फोन, कई कंपनियों की सिम कार्ड, सिम बॉक्स, लैपटॉप और चाइनीज बॉक्स बरामद किए हैं। आरोपियों पर देशद्रोह और इंडियन टेलीग्राफ एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।”

– By Deshyug – August 8, 2017