योगी सरकार की लापरवाही से ही यह हादसा हुआ है, योगी इस्तीफ़ा दें : कांग्रेस, सपा, बसपा का तीखा हमला!

योगी सरकार की लापरवाही से ही यह हादसा हुआ है, योगी इस्तीफ़ा दें : कांग्रेस, सपा, बसपा का तीखा हमला!

Posted by

गोरखपुर। बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन न होने की वजह से 63 बच्चों की मौत पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि सरकार हादसे की सच्चाई को जनता के सामने नहीं ला रही है। विपक्ष इस मुद्दे पर राजनीति कर रहा है यह कहकर योगी सरकार अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी इस घटना के लिए बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि दर्दनाक घटना के लिए बीजेपी सरकार की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। मामले की देखरेख के लिए हमने तीन सदस्यीय टीम बनाई है जो अस्पताल के हालातों का जायजा लेकर जानकारी देगी।

Follow
ANI UP ✔ @ANINewsUP
Iss dardnak ghatna ke liye BJP sakaar ki jitni ninda ki jaaye utni kum hogi: BSP Chief Mayawati on #Gorakhpur incident
1:21 PM – Aug 12, 2017
17 17 Replies 21 21 Retweets 49 49 likes
Twitter Ads info and privacy

Follow
ANI UP ✔ @ANINewsUP
Govt trying to run away from responsibilities that’s why saying that opposition is politicising the situation: Akhilesh Yadav #Gorakhpur
12:27 PM – Aug 12, 2017
9 9 Replies 55 55 Retweets 90 90 likes
Twitter Ads info and privacy

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद की अगुवाई में कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने सुबह पीड़ितों परिवारों से मुलाकात की। जिसके बाद आजाद ने मीडिया से बातचीत में कहा कि योगी सरकार की लापरवाही से ही यह हादसा हुआ है। मुख्यमंत्री को इस हादसे के बाद इस्तीफा देना चाहिए। 36 बच्चों की मौत से देश दुखी है। स्वास्थ्य मंत्री और चिकित्सा शिक्षा मंत्री दोनों को भी इस्तीफा देना चाहिए।

> केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अनुप्रिया पटेल को गोरखपुर जाने के निर्देश दिए।

पढ़ें- ऑक्सीजन सप्लायर को पकड़ने के ल‌िए ताबड़तोड़ छापे, कंपनी बोली-नहीं ‌बंद की सप्लाई

> पुष्पा गैस एजेंसी की एचआर मीनू वालिया ने कहा कि ‘कंपनी ने कई बार बकाये के भुगतान के लिए संबंधित अधिकारियों से बात की लेकिन हमें जवाब नहीं मिला।

> अस्पताल को ऑक्सीजन की सप्लाई करने वाली पुष्पा सेल्स नाम की कंपनी के मालिक और रिश्तेदारों के ठिकानों पर पुलिस की छापेमारी जारी है।

> कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ को हादसे की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना होगा।

5h
ANI UP ✔ @ANINewsUP
UP: Congress delegation, including GN Azad & Raj Babbar, reaches BRD Medical College in #Gorakhpur pic.twitter.com/J5wa1Ffdoc
Follow
ANI UP ✔ @ANINewsUP
UP: Congress delegation at BRD Medical College in #Gorakhpur; what happened was due to lapse on the government’s part says Cong’s RPN Singh pic.twitter.com/NC3ltaIG31
10:43 AM – Aug 12, 2017
View image on TwitterView image on Twitter
9 9 Replies 45 45 Retweets 65 65 likes
Twitter Ads info and privacy

> यूपी के उपमुख्यमंत्री केपी मौर्या ने कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

> पीड़ितों को मुआवजा मिलना चाहिए, यहीं नहीं हादसे में शामिल गरीब परिवारों को फ्री दवा मिलनी चाहिएः राम गोपाल यादव

> ​नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि यह हादसा नहीं बल्कि हत्या है।

सत्यार्थी ने ट्वीट कर कहा कि ‘ऑक्सीजन न होने की वजह से तीन बच्चों की मौत हादसा नहीं हत्या है आजादी के 70 साल का बच्चों के लिए यही मतलब है?’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा ‘यूपी चिकित्सा व्यवस्था में दशकों से चला आ रहा भ्रष्टाचार सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्णायक फैसलों से ही दूर हो सकता है।’

Follow
Kailash Satyarthi ✔ @k_satyarthi
Appeal to CM @myogiadityanath Ji. Your decisive intervention can correct decades of corrupt medical system of UP to prevent such incidents.
9:52 PM – Aug 11, 2017
64 64 Replies 881 881 Retweets 1,136 1,136 likes
Twitter Ads info and privacy

Follow
Kailash Satyarthi ✔ @k_satyarthi
Appeal to CM @myogiadityanath Ji. Your decisive intervention can correct decades of corrupt medical system of UP to prevent such incidents.
9:52 PM – Aug 11, 2017
64 64 Replies 881 881 Retweets 1,136 1,136 likes
Twitter Ads info and privacy

गौरतलब है कि महज 69 लाख रुपए के बकाए को लेकर बीआरडी मेडिकल कॉलेज को ऑक्सीजन की सप्लाई देने वाली फर्म ने हाथ खड़े कर दिए थे। इसके चलते लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट में गुरुवार को गैस खत्म हो गई तो जंबो सिलेंडरों और अम्बू बैग से मरीजों की जान बचाने की कोशिश होती रही लेकिन शुक्रवार की शाम तक 24 मासूम जान से हाथ धो बैठे। बता दें कि सीएम योगी ने खुद दो दिन पहले इस अस्पताल का दौरा किया था, लेकिन फिर भी इतनी बड़ी घटना हो गई।