केरल के मंदिरो में दलित-पिछडों को आरक्षण क्यों दिया गया, विचार करो?

केरल के मंदिरो में दलित-पिछडों को आरक्षण क्यों दिया गया, विचार करो?

Posted by

जरा सौचो और विचार करो।
जब दलित-पिछडे कांग्रेस छोड़ कर जा रहे थे तो तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने दलित-पिछडो को पार्टी में प्रधान व सचिव का पद देकर पार्टी से जोड़े रखा लेकिन सारी शक्तियाँ अपने पास रखी। दलित-पिछडे नेता बन कर खुश हो गए। दलित-पिछडे नेता पिछलग्गू बनकर रह गए। दिल्ली पर सत्ता हासिल नहीं कर पाये। आज भी यही हाल है।

आज दलित-पिछडा मंदिर छोड़ रहा है तो उसे पुजारी बनाया जा रहा है
ये पुजारी बन कर भी तरक्की नही करेंगे बल्कि उन पाखण्डियों के लिए ही काम करेंगे। पाखण्ड का पेड़ मजबूत होगा और यही पुजारी एक दिन समाज के गले में फाँसी डाल कर उसी पेड़ से लटकवा देंगे और ये सब किया जा रहा है मूलनिवासी बहुजन के मिशन को फेल करने के लिए, क्योंकि बाबा साहेब हर शोषित वंचित वर्ग को मंदिर से निकाल कर पुस्तकालय की तरफ ले जाना चाहते थे। जिसमें शोषित वंचित वर्ग में सभी जातियों की महिलाएं, मजदूर, किसान, अादिवासी शामिल थे।

ब्राह्मण जानते हैं यदि ये पढ़ेंगे तो अपने अधिकार मांगेगे।
और अगर यदि मंदिर में रहेंगे तो भगवान का डर दिखा कर इन्हें गुलाम बना कर रखा जा सकता है।
लेकिन हमारे मूलनिवासी बहुजन समाज के लोग नहीं जानते मंदिरो में अज्ञानता रूपी अंधेरा है और पुस्तकालयों में ज्ञान रूपी उजाले हैं।

*********
बस चुनाव मे हिन्दू बना दिया जाता हैं और चुनाव के बाद…..
नीच 
अछूत
जंगली 
बैकवर्ड
कुत्ते
मुल्ले
आरक्षणखोर 
खैरात की मांगकर खाने वाले।
और भी ना जाने क्या क्या ?
चुनाव जीतने के बाद यही लोग “आरक्षण हटाओ अभियान” चलायेगे, आप पर एहसान जताएंगे, आपके ही सामने आपके ही पूर्वज को नीचा दिखायेगे।
ओर पांच साल बाद फिर आपको हिन्दू बनायेंगे।
************
विचार जरूर कीजिएगा…
अलग गोरखालैंड की मांग करने वाला
“गोरखा जनमुक्ति मोर्चा” का गठबंधन बीजेपी के साथ है।
आज़ाद नागालैंड की मांग करने वाला
“नागा जनमुक्ति मोर्चा” का गठबंधन बीजेपी के साथ है।
आज़ाद कश्मीर की मांग करने वाली
“पीडीपी” का गठबंधन बीजेपी के साथ है।
आज़ाद खालिस्तान की मांग करने वाला
“अकाली दल” का गठबंधन बीजेपी के साथ है।
केवल मराठियों के लिए महाराष्ट्र की मांग करने वाली “शिवसेना” का गठबंधन बीजेपी के साथ है।
अलग बोडोलैंड की मांग करने वाला
“बोडो जनमुक्ति मोर्चा” का गठबंधन बीजेपी के साथ है।
वाह, फिर भी भाजपा देशभक्त !!

– Suryansh Mulnivashi