झारखंड सरकार कांरपोरेट घरानों के लिए ग़रीब अल्पसंख्यक, दलितों को उजाड़ रही है : अयूब ख़ान की रिपोर्ट!

झारखंड सरकार कांरपोरेट घरानों के लिए ग़रीब अल्पसंख्यक, दलितों को उजाड़ रही है : अयूब ख़ान की रिपोर्ट!

Posted by

Ayub Khan
================
मानवाधिकार का उलंघन कर रोहन की कमाल का घर धवस्त किया प्रशासन.
झाऱखंड : लातेहार के हेरहंज प्रखंड के रोहन गांव में प्रशासन द्वारा मकान को धवस्त करना मानवाधिकार का उलंघन है. CPIM
झारखंड सरकार कांरपोरेट घरानों के लिए गरीब अल्पसंख्यक. दलितों को उजाड़ रही है.
प्रभावित गरीब परिवार को शीघ्र ही प्रधानमंत्री अवास व मुआवजा दिया जाय. CPIM .
============
हेरहंज प्रखंड के चिरू पंचायत के रोहन गांव की कमाल मियां की मकान को अंचलाधिकारी और पुलिस प्रशासन द्वारा धवस्त किया जाना मानवाधिकार का उलंघन है. यह बांते CPIM लातेहार जिला सचिव अयुब खान ने एक प्रेस ब्यान जारी कर कही. कहा कि मकान धवस्त करने के पूर्व प्रशासन ने सरकारी नियमों का पालन न करने के साथ साथ उन्होने मानवाधिकार का भी खुलम खुला उलंघन किया है.

मकान धवस्त करने के पूर्व प्रभावित परिवार की पक्ष के साथ साथ मानवाधिकार की कानुनों की अनदेखी की गई है. परिवार पर सख्ती बरता गया है.
गरीब प्रभावित परिवार खुले आसमान मे रहने को विवश हैं. अबतक इस परिवार को प्रधानमंत्री आवास एवं मुआवजा न दिया जाना मुसलमानों के साथ प्रशासन की भेदभाव की मंशा झलकती है. इसके पुर्व भी बालुमाथ प्रखंड मे प्रशासन की ओर से कई दलित परिवारों को अतिक्रमण के नाम पर बे घर किया जा चुका है. सरकार और प्रशासन कारपोरेट घरानों से मिलकर गरीब अल्पसंख्यकों और दलितों को उजाड़ रही है.
ऐसे मामलों पर छेञिय विधायक सांसद की चुप्पी शर्मनाक है.

प्रशासन की यह कार्यवाई अन्यायपुर्ण है. पार्टी ने मानवाधिकार आयोग से स्वतह संज्ञान लेकर दोषी़यों पर सख्त कार्यवाइ करने. प्रभावित गरीब परिवार को प्रधानमंत्री आवास व मुआवजा दिलाने की मांग की है.