दीपावली पर जीएसटी की मार : 35 फ़ीसदी तक बढ़े पटाख़ों के दाम!

दीपावली पर जीएसटी की मार : 35 फ़ीसदी तक बढ़े पटाख़ों के दाम!

Posted by

लखनऊ।जीएसटी की मार से दीपावली पर पटाखों का धूम-धड़ाका इस बार कुछ कम हो सकता है। टैक्स दर दोगुनी किए जाने से पटाखा बाजार बीते साल के मुकाबले 35 फीसदी तक महंगा होगा। व्यापारियों का कहना है कि अब तक पटाखा-आतिशबाजी पर 14 फीसदी टैक्स लगता था, जो जीएसटी के बाद 28 फीसदी हो गया है।

वहीं, प्रशासनिक सख्ती व सुरक्षा मानकों के अनुपालन के कारण दुकान खर्च भी 15 फीसदी तक बढ़ गया है। ऐसे में 30 से 35 फीसदी तक ऊंचे दाम पर पटाखे बेचना दुकानदारों की मजबूरी होगी। थोक पटाखा कारोबार से जुड़े सतीश मिश्र ने बताया कि पांच साल पहले छोटे अनार के पैकेट की कीमत 30 रुपये थी, जो अब 90 रुपये पहुंच गई है।

20 रुपये में बिकने वाले छोटी चकरी के पैकेट 55 रुपये में बिक रहे हैं। पटाखा व्यापारी अखिलेश गुप्ता बताते हैं कि एक तो थोक खरीद जीएसटी के कारण महंगी हुई है, वहीं पर्यावरण सुरक्षा व कोर्ट की सख्ती से फुटकर पटाखा बिक्री पर प्रशासन की सख्ती से मूल लागत भी निकाल पाना चुनौती लग रहा है।

कारोबारियों ने बताया कि थोक पटाखा सप्लाई में देश की सबसे बड़ी मंडी माने जाने वाले तमिलनाडु के शिवकासी जिले में भी जीएसटी का असर दिख रहा है। यहां से देश के 85 फीसदी हिस्सों में होने वाली थोक पटाखा सप्लाई की कीमत में भी इजाफा हुआ है। ऐसे में 30 से 35 फीसदी महंगे दाम पर बेचना पटाखा कारोबारियों की मजबूरी बनेगा।

पटाखा खरीद की कीमत में आया अंतर
पटाखा पिछले साल इस वर्ष
फुलझड़ी 150 से 350 250 से 400
अनार 100 से 250 200 से 400
चकरी 50 से 200 100 से 250
म्यूजिकल 140 से 200 230 से 350
कचरा बम 200 से 300 400 से 700
लड़ी 150 से 400 250 से 500
12 शॉट 50 से 200 100 से 400
नोट : कीमत रुपये में