पैसे और पद के लिए मीर जाफर बनने की कहानी ज़रूर पढ़िए!

पैसे और पद के लिए मीर जाफर बनने की कहानी ज़रूर पढ़िए!

Posted by

Syed Salman Ahmad
====================
एक नया नया मुसलमानों का मसीहा मार्केट में आया है। कोई शायर है। कुछ के लिए शेर है। साइबर आर्मी मिशन पर है। शेर शायर को सिर आंखों पर ज़बरदस्ती बिठवाने के लिए। मौत और मय्यत को धंधा बनाकर इमोशन और जज़्बात की दुकान चलाना। इधर उधर जोड़ तोड़ कर दो चार मिश्रा बना लेना, ओर यश भारती को हथियार बना कर एक ब्रांड के तौर पर स्थापित करना। फेसबुक पर कुछ दलाल टाइप लोग उसकी गरीबी, गांव के कच्चे घर, टूटी फूटी सड़कें और खटिया पर सोने का उदाहरण देकर उसके घटियापन पर चादर ओढ़ा रहे। लेकिन चादर मैल से सनी है। ये वही हैं जो अपनी गरीबी की ब्रांडिंग कर सीना तो फुलाते हैं। मगर मोदी की गरीबी और चाय बेचने की कहानी पर उन्हें गरियाते हैं। उस फर्जी और लाश पर सियासत करने वाले शायर का बैकग्राउंड क्या है, उसका इतिहास क्या है? मुसलिमों के लिए क्या किया है उसने? उसका एजुकेशन क्या है? उसकी उपलब्धियां क्या है ? क्यों वो गालीबाज़ों की फौज तैयार कर रहा है? क्यों वो आपस मे कौम को लड़ा रहा है? सोचियेगा। सब पैसे का खेल है बाबू। पैसे और पद के लिए मीर जाफर बनने की कहानी ज़रूर पढ़िए। ये खेल भी उसी की अगली कड़ी है।