भूख हड़ताल तभी समाप्त होगा जब केंद्र सरकार हमारी मांग मांने : 21 दिन से भूख हड़ताल पर CRPF जवान पंकज मिश्रा : वीडियो

भूख हड़ताल तभी समाप्त होगा जब केंद्र सरकार हमारी मांग मांने : 21 दिन से भूख हड़ताल पर CRPF जवान पंकज मिश्रा : वीडियो

Posted by

CRPF जवान पंकज मिश्रा

==================
दोस्तों यह है 119 बटालियन CRPF का हाल
दुर्गा पूजा के नवरात्र के रात्रि भोजन का बड़ा खाना ( special festivel party )जबकि मेस मेन्यु के भी हिसाब से खाना नहीं बना । बार-बार कंप्लेन करते-करते थक गया मैं ।
और दूसरा हम जवान कैसे रहते हैं , इतनी गर्मी में आप स्वयं देख लो । कितने जवानों के बीच कितने AC- कूलर लगे हुए हैं ।
और भी इस तरह के वीडियो चाहिए तो दूसरे बटालियन से भी मिल सकते हैं
आप खुद ही देख लीजिए कृपया दोनों वीडियो देखें

==========
21 दिनो का भुख हडताल —
अब और जुल्म और प्रताड़ना , आत्महत्या
नहीं सहेगा जवान — चाहे प्राण रहे या जाए हमारा
सारे सबूत व कागजात रखे रहा
कोई चैनल ( Officers ) काम ना आ रहा
हमारी मांगे पूरी करो , सुविधा और अधिकारों में ।
फौज में ना हो भेदभाव , जवानों और अधिकारियों में ।।
बहुत कर लिया विश्वास
जय हिंद ।।
।।। पंकज मिश्रा ।।।
———————–

भूख हड़ताल तभी समाप्त होगा जब केंद्र सरकार हमारी मांग मांने ?

1- केंद्र सरकार एक कमीशन आयोग गठित करें ।

2- आर्मी , एयरफोर्स , नेवी और समस्त पारामिलिट्री के जवानो के लिए एक शिकायत भवन होना चाहिए , जहां कोई भी जवान शिकायत कर सके! लेकिन उसका अधिकारी /officers सेना या अर्धसैनिक का और I.P.S भी नहीं होना चाहिए,सिर्फ civilian officer होगा ।।कोर्ट मार्शल और विभागीय जांच में शोषण और डरा-धमकाकर साइन करवाते हैं और फैसला गलत देते हैंl

3- जवानों से फटिक ( बंधुआ मजदुर) पुरी तरह बंद की जाएl मजदूरों की तरह कार्य करवाते है । जवान राइफल का हीं ड्यूटी सिर्फ करें , officers तो अपने निजी मकान भी बनवाते है जवानो से ।

4-सैन्यढांचा में पुरी तरह से बदलाव हो , अंग्रेजों का बनाया हुआ काला कानून रद्द किया जाए और भारतीय कानून बनाया जाए ,सेना की ढांचा में।

5-जवानों का शोषण, प्रताड़ना मानसिक और शारीरिक टॉर्चर बंद हो तथा गॉली न दे officers l

6-सेना में सेवादार या वटमैन, सहायक प्रथा पुरी तरह से बंद हो

7-एक मेंस – एक लाइन हो ( No Geo’s– No Ors and ONE Barak , बैरक ) सब कुछ बराबर हो जवानों और अधिकारियों में ।

8-जितना फैसिलिटी (facilaty) ऑफ़ीसरों लेते हैं उतना ही फैसिलिटी हम सभी जवानों को मिलना चाहिए । साथ में फैमिली facility भी ।

9-शारीरिक सजा / पिट्ठू देने का सजा सेना में पुरी तरह से बंद हो । मानवाधिकार के तहत भी।

10-कोई भी जवान आत्महत्या करें तो वहां के कैंप कमांडर को कठोर से कठोर , 302 के तहत सजा दिया जाए ।

11-रिस्क अलाउंस और वर्दी अलाउंस बराबर मिलना चाहिए । जवानों और अधिकारियों का बराबर मिले सब कुछ l जंग के दौरान — जवान जंग लड़ते हैं अधिकारी तो पीछे से कमांड करते हैं । तो फिर ऐसा क्योंl

12- फौज में भ्रष्टाचार रोकने के लिए एक इंटेलिजेंस बनाया जाए l जवानों के नाम पर बहुत-बहुत घोटाले होते हैंl

13– जितने भी स्टोर का सामान है वह सिर्फ और सिर्फ अधिकारी उपयोग करते हैं जबकि कागजो में जवानों के लिए आता हैl

14-फिर से हमारी पेंशन चालू की जाए तथा CAPF का शहीद का दर्जा भी मिलेl

15- शहीदों को पूरे देश में एक समान अलाउंस /पेसा मिले और शहिद सुविधा भी , Special Jawan l

16 -शनिवार और रविवार अधिकारियों ( officer) की तरह — जवानों को भी छुट्टी होना चाहिए कैंप मेंl

17 -जवानों के Duty 8 या 10 घंटे fix होना चाहिए ।

18 -देश के तीन आपातकालीन ( 352– 356 — 360 ) के दौरान ही जवानों का छुट्टी ही रुकना चाहिए l कोई छुट्टी जमा नहीं होगा — जबरन जमा करवाते हैं अधिकारी ( officero) l होली या दिवाली में से एक अनिवार्य हो । हर जवानों को छुट्टी मिलना ।

जय हिंद ।

पंकज मिश्रा CRPF JWAN